मान्यता: पैसों की समस्या से जूझ रहे हैं तो गुरुवार को करें ये पांच काम

कोलकाता : यदि आप आर्थिक समस्या का सामना कर रहे हैं, पैसों की तंगी लगातार बनी हुई है, धन से जुड़े मामलों में सफलता नहीं मिल रही है तो आपको गुरुवार के दिन कुछ विशेष उपाय करना चाहिए। गुरुवार का दिन भगवान विष्णु जी का दिन माना जाता है और जब जगत के पालनहार विष्णु जी प्रसन्न होते हैं तो मां लक्ष्मी भी स्वयं प्रसन्न हो जाती हैं। वहीं गुरुवार का दिन देवगुरु बृहस्पति को समर्पित है जो वृद्धि के कारक हैं। यदि इनसे जुड़े उपाय गुरुवार के दिन किए जाएं तो आर्थिक समस्या से छुटकारा प्राप्त हो सकता है। ये उपाय इस प्रकार हैं –
इस उपाय से धन की कमी होगी दूर
बृहस्पतिवार के दिन पीपल का पत्ता लेकर उसे धोकर शुद्ध कर लें और गंगा जल से पवित्र करें। इसके बाद इसपर रोली या सिंदूर से ‘ओम श्रीं ह्रीं श्रीं नमः’ लिखें। अब इसको अच्छी तरह से सुखाने के बाद अपने पर्स में रख लें, इसके साथ ही मां लक्ष्मी के स्वरूप अंकित चांदी का एक सिक्का भी अपने पर्स में रखें। मान्यता है कि इससे मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु दोनों की कृपा से आपके पर्स में कभी पैसों को कमी नहीं होती है।
इस उपाय से पर्स नहीं होगा कभी खाली
कोषाध्यक्ष कुबेर को स्थाई धन का देवता माना गया है। कुबेर भगवान की कृपा से धन संचय होता है। तांबे के पत्र पर कुबेर यंत्र अथवा श्री यंत्र अंकित अंकित करवाकर अपने पर्स में रखें। इसके अलावा गोमती चक्र, कौड़ी, केसर और हल्दी का टुकड़ा इनमें से कोई एक चीजे भी आप अपने पर्स में रख सकते हैं। इससे आपके पर्स में हमेशा प्रचुर मात्र में धन बना रहता है। ये सभी चीजें समृद्धि कारक मानी गई हैं।
यह उपाय लाएगा जीवन में संपन्नता
माना जाता है कि केले के वृक्ष में साक्षात भगवान विष्णु का वास होता है। गुरुवार के दिन केले के वृक्ष की पूजा करने वाले से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। वे भक्तों को सुख-समृद्धि, शांति का वरदान देते हैं। केले के वृक्ष को शुभ और संपन्नता का प्रतीक माना जाता है।
विवाह में आ रही बाधाएं होती हैं दूर
अगर आपकी कुंडली में गुरु की स्थिति खराब चल रही है और आपके विवाह में बाधा आ रही है तो आपको किसी ज्योतिष से सलाह लेकर बृहस्पति देव का व्रत रखना चाहिए और केले के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। इससे कुंडली में गुरुग्रह मजबूत होगा, और विवाह में आने वाली बाधाएं दूर होंगी।
इस बात का जरूर रखें ध्यान
इस दिन केले के पेड़ की पूजा का विधान है इसलिए इस दिन केला खाना वर्जित माना जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार केले के वृक्ष में भगवान विष्णु जी का वास माना जाता है और गुरुवार का दिन उन्हें ही समर्पित होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मिनी भारत है भवानीपुर, यहीं से शुरू होगी दिल्ली की लड़ाई : ममता

कहा : निष्पक्ष चुनाव हुआ होता तो 30 सीट भी न जीत पाती भाजपा 6 महीने में विधायक बनना जरूरी, इसके बिना सीएम पद उचित नहीं लोगों आगे पढ़ें »

ऊपर