राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

” हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना”
हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार की थीम है एक नयी पहचान, एक नयी उड़ान! हिंदी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को हम करेंगे सम्मानित। कॉलेज/विश्वविद्यालय छात्र व संस्‍थान आज ही https://tinyurl.com/ragppstudentregistrationform लिंक पर क्लिक कर भरें आवेदन।
अब तक का सफर…
वर्ष 1949 में स्थापित “हिन्दी दैनिक सन्मार्ग” पूर्वी भारत का सर्वाधिक प्रसारित और व्यापक रूप से पढ़ा जाने वाला समाचार पत्र है। इसका मुख्यालय कोलकाता में है। अपनी 76 वर्षों की उल्लेखनीय यात्रा में इसने पश्चिम बंगाल, ओडिशा, बिहार और झारखंड में अपने 10 लाख पाठक बनाये हैं।
“सन्मार्ग फाउंडेशन” “हिन्दी दैनिक सन्मार्ग” की सीएसआर शाखा है। इसका मुख्य उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करना है, साथ ही देश के छात्रों को हिन्दी के विकास और प्रचार-प्रसार कार्य में उत्कृष्टता लाने के लिए प्रोत्साहित करना है।
“राम अवतार गुप्त प्रतिभा पुरस्कार” हमारे संस्थापक संपादक स्व. आर. ए. गुप्त को समर्पित है।
इसकी स्थापना वर्ष 2006 में हुई । इसका उद्देश्य उन छात्रों, शिक्षकों और संस्थानों को प्रोत्साहित एवं पुरस्कृत करना है जो हिन्दी में बेहतरीन कार्य कर रहे हैं। हमें यह बताते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है कि हमने छात्रों, संकायों और संस्थानों में हिन्दी के प्रति अभिरुचि बढ़ाने में मदद की है। हर वर्ष इसके आयोजन में आवेदकों की संख्या बढ़ती गयी। वर्ष 2019 में 15000 से ज्यादा आवेदन हमें प्राप्त हुए, 250 पुरस्कार एवं हजारों प्रमाणपत्र प्रदान किये गये। इसके अतिरिक्त हम विद्यालय के वरिष्ठ हिन्दी शिक्षकों तथा हिन्दी में उत्कृष्ट परिणाम लाने वाले विद्यालयों को भी सम्मानित करते हैं।
वर्ष 2013 में हमने पूरे बंगाल में इसका आयोजन प्रारंभ कर दिया।
हमारा मुख्य उद्देश्य हिन्दी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को प्रोत्साहित करना और हिन्दी के प्रति उनके मन में गर्व की भावना को जागृत करना है ।
जो छात्र अपनी उच्च शिक्षा हिन्दी में करना चाहते हैं, उन्हें हम छात्रवृत्ति भी प्रदान करते हैं।
हमें यह बताते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है कि हमारा नवीनतम कदम है “समार्ट विद्यार्थी “। यह पूरे बंगाल के हिन्दी माध्यम के विद्यालयों में अध्ययन कर रहे 9 लाख छात्रों को नि:शुल्क ई-​शिक्षा प्रदान करने का प्रयास है। यह कार्य हम पश्चिम बंगाल सरकार के शिक्षा विभाग के सहयोग से कर रहे हैं। कोरोना महामारी को देखते हुए इसका आरंभ अप्रैल 2020 में किया गया ।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शिवाकाशी के पटाखों से रोशन होगी कोलकाता की ‘ईको फ्रेंडली’ दिवाली

दमघोंटू नहीं, ग्रीन पटाखों से सजेगा आतिशबाजी का बाजार पटाखों की आवाज होगी 90 डेसीबल से कम सन्मार्ग संवाददाता काेलकाता : रोशनी के त्योहार दिवाली के मौके पर आगे पढ़ें »

ऊपर