12 अगस्त को मना रहे हैं रक्षाबंधन तो सुबह इतने बजे से पहले बांधनी होगी राखी, नहीं लग जाएगी प्रतिपदा

नई दिल्ली : हिंदू पंचाग के अनुसार, रक्षाबंधन का त्योहार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। सावन की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10.37 बजे से शुरू हो गई और ये अगले दिन यानी 12 अगस्त को सुबह 07.06 बजे तक रहेगी। भद्रा की वजह से कई लोगों ने 11 अगस्त यानी गुरुवार को रक्षाबंधन नहीं मनाया। हालांकि, पंडितों का कहना है कि भद्रा पाताल लोक में है इसलिए पृथ्वी पर मान्य नहीं है। अगर आपने 11 अगस्त को भाई नहीं राखी बांधी है तो 12 अगस्त के लिए पूर्णिमा तिथि का समय और शुभ मुहूर्त जरूर जान लें।
12 अगस्त को कितने बजे तक बांध सकेंगे राखी?
अगर आप 12 अगस्त को राखी का त्योहार मनाने की सोच रहे हैं तो इसमें समय का विशेष ध्यान रखना होगा। 12 अगस्त को पूर्णिमा तिथि सुबह 07 बजकर 06 मिनट तक ही रहेगी। इसलिए इस दिन आप सुबह 07.06 बजे तक ही भाई की कलाई पर राखी बांध सकते हैं। इसके बाद भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि लग जाएगी, जिसमें राखी का त्योहार मनाने की परंपरा नहीं है। बेहतर होगा कि आप आज ही राखी की थाली तैयार करके रख लें और सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद भाई को समय पर राखी बांध दें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर