थम सकते हैं रेलवे के पहिये, चालक संघ ने दी हड़ताल की धमकी

Railway's driver union gave threat to strike

नई दिल्ली : भारत के सबसे बड़े राजस्व स्रोत भारतीय रेल के पहियों पर ब्रेक लग सकता है, क्योंकि रेल चालक संघ रेलवे बोर्ड के निजीकरण के विरोध में उतर आया है। उन्होंने रेलवे बोर्ड को सोमवार से भूख हड़ताल की शुरूआत की। साथ ही चक्का जाम करने की भी चेतावनी दी है। ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन (एआईएलआरएसए) ने इस हड़ताल का आह्वान किया है। उनका कहना है कि रेलवे के निजीकरण पर रोक लगाने और अन्य मांगों को लेकर 15 से 17 जुलाई के बीच एक दिवसीय भूख हड़ताल और चक्का जाम करेंगे। साथ ही उनका यह भी कहना है कि अगर सरकार हमारी मांगे पूरी नहीं करती है तो 38 साल बाद फिर रेलवे के पहिए थम जाएंगे।
रेलवे की ओर से कड़ी कार्रवाई के निर्देश
दरअसल, रेलवे बोर्ड के निजीकरण के विरोध में एआईएलआरएसए ने पिछले महीने अपनी मांग को लेकर रेलवे बोर्ड को नोटिस भेजा था। उन्होंने कहा था कि अगर सरकार ने हमारी मांगे पूरी नहीं करेगी तो हमलोग 15 जुलाई को भूख हड़ताल करेंगे। साथ ही उन्होंने 16 से 17 जुलाई तक पूरे देश में ट्रेन के पहियों पर ब्रेक लगने के भी संकेत दिये। रेलवे बोर्ड ने एआईएलआरएसए की ओर से जारी नोटिस पर सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि कोई भी रेलवे कर्मचारी हड़ताल में शामिल न हो। वहीं रेलवे बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी आलोक कुमार ने सभी मण्डलों के प्रबंधकों को पत्र लिखा। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि रेलवे को किसी भी प्रकार की क्षति जैसे ट्रेन चलाने में रूकावट पैदा करना, तोड़फोड़, उत्पात करने वाले लोगों के खिलाफ रेलवे एक्ट 1989 के सेक्शन 173, 17, 175 के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
बता दें कि ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन (एआईएलआरएसए) ने साल 1973 में अपनी मांग को पूरा करवाने के लिए पूरे देश में 1 से 15 अगस्त तक रेलवे के पहियों पर रोक लगा दिया था। इसका असर पूरे देश में देखने को मिला था। अंत में सरकार को झुकना पड़ा। जिसके बाद एआईएलआरएसए ने हड़ताल को खत्‍म किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

zakir

जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार आगे पढ़ें »

गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत

बक्सर : जिले में गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत हो गई। जानकारी के अनुसार लक्ष्मण डेरा बधार में खेत आगे पढ़ें »

ऊपर