लखनऊ में रेलवे ठेकेदार की ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या, पत्नी-बच्चों को…

लखनऊ : राजधानी लखनऊ में सनसनीखेज वारदात हुई है। कैंट के निलमथा में रेलवे ठेकेदार की ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी गई। घर में घुसकर वारदात को अंजाम दिया गया। युवक की हत्या से पहले उसकी पत्नी और बच्चों को एक कमरे में बंद कर दिया गया। पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और कई एंगलों से जांच पड़ताल की जा रही है। मारे गए ठेकेदार पर पहले भी हमला हो चुका था। इसी वजह से उसने तीन बॉडी गार्ड भी रखे थे। तीनों फिलहाल फरार हैं। बताया जाता है कि मारा गया युवक वीरेंद्र ठाकुर (42) दिव्यांग भी था। शनिवार की दोपहर वह घर में पत्नी खुशबू, बेटे अंश (2) और ऋषि कुमार (8) के साथ था। बड़ा बेटा अभिषेक स्कूल गया हुआ था। इसी दौरान दोपहर करीब तीन बजे बदमाश उसके घर में घुस आए। बदमाशों ने खुशबू और बच्चों को पहले एक कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद ताबड़तोड़ फायरिंग कर ठेकेदार की हत्या कर दी। वारदात के बाद बदमाश घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की हार्डडिस्क भी निकाल ले गए। गोली की आवाज सुनने के बाद पत्नी और बच्चों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। इस पर आसपास के लोग पहुंचे। देखा तो युवक खून से लथपथ पड़ा था। तत्काल मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। कुछ देर में ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि रेलवे ठेकेदार वीरेन्द्र ठाकुर (42) बिहार के पश्चिम चंपारण जिले का मूल निवासी था। करीब 10-12 सालों से यहां रेलवे ठेकेदार के तौर पर कार्यरत था। उन्होंने कहा कि 2019 में ठेकेदार पर एक बार और हमला हो चुका है जिसके बाद उन्होंने अपनी निजी सुरक्षा के लिये तीन गार्ड रखे थे। घटना के बाद तीनो गार्ड फरार हैं। ठेकेदार ने दो विवाह किये थे। पुलिस मामले की जांच उनके पारिवारिक एंगल के साथ-साथ व्यवसाय को भी जोड़कर कर रही है। जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार किया जायेगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

इस उम्र के बाद बच्चे को जरूर सिखाएं ये 5 काम करना, कई मुश्किलें होंगी आसान

कोलकाता : बच्चों की खास देखभाल और बेहतर परवरिश के लिए पैरेंट्स हर मुमकिन कोशिश करते हैं। बावजूद इसके कुछ बच्चे आलसी नेचर के होते आगे पढ़ें »

ऊपर