चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं रखे खास ध्यान

कोलकाता : ज्‍योत‍िषाशास्‍त्र हो या खगोलशास्‍त्र हर जगह ग्रहण को व‍िशेष माना गया है। इस दौरान कई कार्य ऐसे होते हैं जो पूर्णतया वर्जित होते हैं। तो कुछ ऐसे कार्य हैं ज‍िन्‍हें करने से जातकों को लाभ ही लाभ होता है। इस बार चंद्रग्रहण 26 मई यानी आज पड़ रहा है। इसका सूतक काल सुबह 6 बजकर 15 म‍िनट पर शुरू हो जाएगा। तो ऐसे में चंद्रग्रहण काल में गर्भवती मह‍िलाओं के ल‍िए क्‍या न‍ियम बताये गए हैं? साथ ही कहां-कहां चंद्रग्रहण के चलते गर्भवती मह‍िलाओं को चंद्रग्रहण के व‍िशेष न‍ियम का ख्‍याल रखने की जरूरत है? आइए जानते हैं…
* चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं के शरीर पर ग्रहण से छनकर आने वाली रोशनी नहीं पड़नी चाहि‍ए। मान्‍यता है क‍ि इससे मां और बच्‍चे दोनों की मानस‍िक और शारीर‍िक सेहत पर ग्रहण का दुष्‍प्रभाव पड़ता है। साथ ही बच्‍चा अपंग भी हो सकता है। इसल‍िए कहा गया है क‍ि चंद्रग्रहण के दौरान मह‍िलाओं को घर के अंदर ही रहना चाह‍िए।
* चंद्रग्रहण के समय यह काम भी न करें
धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती मह‍िलाओं को सोना नहीं चाह‍िए। कहते हैं क‍ि ऐसा करना अशुभ होता है। इसल‍िए ग्रहण काल में गर्भवती मह‍िलाओं को धार्मिक पुस्‍तकों का अध्‍ययन या फ‍िर ईश्‍वर की उपासना करनी चाह‍िए।
* इस न‍ियम का भी रखें ख्‍याल
चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती मह‍िलाओं को सूई-धागे का प्रयोग नहीं करना चाह‍िए। इसके अलावा चाकू-छुरी का भी इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि यद‍ि कोई गर्भवती मह‍िला ऐसा करती है तो इसका दुष्‍प्रभाव होने वाले बच्‍चे पर पड़ता है। इससे बच्‍चे के अव‍िकस‍ित अंग को नुकसान पहुंचता है। कई बार तो उन अंगों पर कटने का भी न‍िशान पड़ जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर