कम सोने वाले लोग होते हैं ज्यादा अलर्ट…

कोलकाता : सुबह जल्दी उठने वाले अच्छी नौकरी कर सकते हैं, लेकिन रात में ज्यादा जगने वाले होते हैं, मालिक। अभी तक हर कोई यही जानता था कि देर रात तक जगना सेहत को खराब करता है। इसके अलावा ये आदत दिमागी संतुलन खराब करने के साथ याददास्त को भी कमजोर करती है। लेकिन अब इस खबर को पढऩे के बाद आपकी सोच बदल जायेगी। क्योंकि अब रिसर्च में चौकाने वाला खुलासा हुआ है। रिसर्च के मुताबिक, रात में देर से सोने वाले या कहें देर रात तक जागने वाले हमेशा सही दिशा की ओर ही सोंचते हैं। हर कोई जानता हैं कि जन्म के समय से ही बच्चे की पर्सनालिटी के बारे में पता लगाया जा सकता है। उदाहरण तौर पर देखा जाए तो सुबह हो या दिन का समय, इस समय में ज्यादा हीलते-डुलते रहते है। जबकि रात के वक्त पैदा हुए लोग देर रात तक जागते है इसलिए रात में पैदा होने वाले लोगों को ज्यादा बुद्धिमान माना जाता है। परन्तु इस समय जन्म लेने वाले लोगों में कुछ खास बातें पाई जाती है जो इस प्रकार है-
अधिक बुद्धिमान…
जब बच्चा रात को जन्म ले तो, यह मान ले कि वह बहुत समझदार होता है। उनके अन्दर बहुत धैर्य होता है और वे शांत स्वभाव के होते है। इसके अलावा इनकों समस्या बेस्ट प्रॉब्लम सॉल्वर माना जाता है क्योंकि ये किसी भी समय को बड़ी आसानी से हल निकालते है। ये लोग रात में कम सोते है और उनका दिमाग कुछ ज्यादा चलता है।
बॉडी का फिट होना…
एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि सुबह जल्दी उठने वालों के मुकाबले रात में देर से सोने वाले शारीरिक रूप से ज्यादा मजबूत होते हैं और ये शाम के समय ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं। जबकि जो लोग रात में जल्दी सोते है उनके अन्दर स्ट्रेस लेवल ज्यादा पाया जाता है, वहीं रात में देर से सोने वाले ज्यादा रिलैक्स्ड फील करते है।
रात को देर से सोना, केवल बुद्धिमान होना…
मैड्रिड यूनिवर्सिटी में किये गए एक अध्ययन के अनुसार, मॉर्निंग में जल्दी उठने वाले अच्छी नौकरी और कमाई करते हैं परन्तु रात में जगने वाले आमतौर पर बुद्धिमान होते हैं और केवल दिमाग सही जगह चलता है।
थोड़े समय में नींद काफी
सुबह जल्दी उठने वाले अपनी नींद पूरी करने के लिए कम से कम 8-9 घंटे सोते हैं जबकि रात में देर से सोने वालों के साथ ऐसा नहीं है। ये लोग 5-6 घंटे में ही नींद पूरा करके फ्रेश अनुभव करते है लेकिन रात में देर तक जगे रहने वाले जल्दी सोने वालों के अपेक्षा ज्यादा अलर्ट रहते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक जल्दी जगने वालों का जल्दी किसी काम में नहीं लगता।

काम करने में सहजता
जब लोग रात में देर तक जगकर किसी भी समय आसानी से काम पूरा कर लेते है, लेकिन सुबह जल्दी उठने वालों की दिनचर्या दफ्तर में आठ घंटे काम करने के ही हिसाब से बन जाती है।
आईक्यू लेवल का अच्छा होना
लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में की गई एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग रात में काफी देर तक जागते हैं, उनका IQ लेवल काफी अच्छा होता है। वहीं सुबह जल्दी उठने वाले पढऩे में अच्छे माने जाते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः उच्च माध्यमिक में सब पास

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उच्च माध्यमिक की परीक्षा के नतीजों को लेकर राज्य में असंतोष जारी था। ऐसी परिस्थिति में असफल परीक्षार्थियों को पास कराने का आगे पढ़ें »

ऊपर