जम्मू के लोगों ने अयोध्या फैसले का किया स्वागत, बांटी मिठाइयां

jammu

जम्‍मू : अयोध्या मामले में आज शीर्ष न्यायालय द्वारा दिए गए फैसले का स्वागत जम्मू के लोगों ने मिठाइयां बांटकर की। जबकि सुरक्षाबलों ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए निषेधाज्ञा लगा रखी है। अधिकारियों ने बताया कि न्यायालय के इस फैसले के बाद पर कुछ स्थानों पर पटाखे छोड़े गए। इसके अलावा यहां संपूर्ण स्थिति कमोबेश शांतिपूर्ण है और कहीं से किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। बता दें कि न्यायालय ने शनिवार को अयोध्या में विवादित स्थल पर राममंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया और केंद्र सरकार को सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ जमीन देने का निर्देश दिया।

ऐतिहासिक एवं संतुलित फैसले का स्वागत करते हैं : वीहिप अध्यक्ष

इस नवसृजित केंद्रशासित प्रदेश में आधी रात को सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी गयी थी। उससे पहले पुलिस महानिदेशक ने शीर्ष न्यायालय के (संभावित) फैसले के मद्देनजर सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की थी। विश्व हिंदू परिषद की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष लीला करण शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि ‘हम शीर्ष न्यायालय के इस ऐतिहासिक एवं संतुलित फैसले का स्वागत करते हैं। यह 130 करोड़ नागरिकों की जीत है और मैं आशा करता हूं कि लोग देश की प्रगति एवं विकास के लिए शांति एवं सद्भाव बनाये रखेंगे।’

‘जय श्री राम’ के नारों के साथ बांटी गई मिठाइयां

शर्मा इस फैसले पर खुशी मनाने के लिए अपने साथियों के साथ विहिप मुख्यालय पहुंचे और उन्होंने ‘जय श्री राम और भारत माता की जय’ के नारों के बीच मिठाइयां बांटी। उन्होंने कहा, ‘यह फैसला लाखों कार्यकर्ताओं के प्रति श्रद्धांजलि है जिन्होंने 491 सालों के संघर्ष के दौरान रामजन्मभूमि की मुक्ति के लिए अपनी जान कुर्बान की। इस फैसले ने केंद्र को मस्जिद निर्माण के लिए वैकल्पिक जमीन देने का निर्देश देकर अन्य पक्ष के आग्रह को संतुलित किया है जिसका हम स्वागत करते हैं।’

दोनों पक्षों के लिए जीत वाली स्थिति लेकर आया फैसला : शिवसेना अध्यक्ष

शिवसेना डोगरा फ्रंट के अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने भी यहां एक कार्यक्रम में मिठाइयां बांटी और कहा, ‘यह फैसला दोनों पक्षों के लिए जीत वाली स्थिति लेकर आया है। अंजुमन-ए-इमामिया के सचिव प्रोफेसर शुजात अली खान ने प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई की अगुवाई में उच्चतम न्यायालय की पांच सदस्यीय पीठ द्वारा दिये गये फैसले का स्वागत किया और कहा कि किसी भी गलत निर्णय से पूरा देश आग की चपेट में आ जाता।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर