साढ़े तीन करोड़ सृजित जमाबंदियों का हुआ ऑनलाइन प्रकाशन

पटना : बिहार सरकार ने बुधवार को कहा कि इस वर्ष फरवरी तक 3 करोड़ 64 लाख 2,368 सृजित जमाबंदियों का ऑनलाइन प्रकाशन किया गया है।
विधान परिषद में राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल ने राष्ट्रीय जनता दल के राधाचरण शाह के ध्यानाकर्षण के जवाब में कहा कि इस वर्ष के फरवरी तक कुल 3 करोड़ 64 लाख 2,368 सृजित जमाबंदीयों का ऑनलाइन प्रकाशन किया गया, जिनमें से एक करोड़ 59 लाख 85 हजार 226 जमाबंदी का लगान सूचना नहीं है। उन्होंने कहा कि खाता रहित जमाबंदी की संख्या 81 लाख 7,177 है। वैसी जमाबंदी, जिसमें जमीन के रकबे का ब्योरा नहीं है, उसकी संख्या 83 लाख 89 हजार 892 है। मंडल ने कहा कि राज्य में इस वर्ष के 28 फरवरी तक ऑनलाइन दाखिल-खारिज याचिकाओं का निर्धारित समय से निष्पादन का प्रतिशत 0.47 है। बिहार भूमि दाखिल-खारिज संशोधन नियमावली 2017 के नियम 10 के तहत निर्गत प्रपत्र ख लगान रसीद में एक से अधिक खेसराओं का रकबा समेत संख्या दर्ज करने का प्रावधान किया गया है। इसके तहत सभी अपेक्षित खेसराओं को समाहित कर अंकित करने का प्रावधान है। मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन के माध्यम से प्राप्त दाखिल-खारिज याचिकाओं का ससमय निष्पादन के लिए डिजिटाइज्ड जमाबंदी पंजी में दर्ज विवरण को अद्यतन करने के संबंध में वांछित दिशा-निर्देश सभी समाहर्ता को दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि साथ ही ऑनलाइन दाखिल-खारिज, ऑनलाइन भू लगान भुगतान एवं जमाबंदी अभिलेखों के डिजिटाइजेशन के संबंध में आम रैयतों से प्राप्त आपत्तियों के निस्तारण के लिए अंचल स्तर पर शिविर का आयोजन करने के संबंध में सभी समाहर्ता को विभाग की ओर से आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शैक्षणिक सत्र 2020-21 से एमसीए पाठक्रम की अवधि दो वर्ष होगी: परिषद

नयी दिल्ली : अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने मंगलवार को घोषणा की है कि अब से मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (एमसीए) दो वर्ष का आगे पढ़ें »

काला सोना फिल्म के निर्माता हरीश शाह का कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद हुआ निधन

मुम्बई : फिल्मकार हरीश शाह का कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद मंगलवार को सुबह निधन हो गया। उन्हें गले का कैंसर था और आगे पढ़ें »

ऊपर