मकर संक्रांति पर तिल के ये उपाय करते ही तुंरत दिखेगा असर, तिजोरी में तेजी से बढ़ेगा धन का प्रवाह

कोलकाता : इस बार मकर संक्रांति का त्योहार 15 जनवरी 2023 रविवार के दिन मनाया जा रहा है। रविवार होने के कारण इसका महत्व और बढ़ गया है। इसे खिचड़ी, पोंगल, उत्तरायण, जैसे कई नामों से भी जाना जाता है। इस दिन भगवान सूर्य देव और विष्णु भगवान की पूजा का विशेष महत्व है। इतना ही नहीं, इस दिन तिल, गुड़ का दान करना शुभ माना गया है। वहीं, ज्योतिष शास्त्र में मकर संक्रांति पर तिल के कुछ उपायों को बताया गया है, जिन्हें करने से झन-वैभव की प्राप्ति होती है।
लगाएं तिल का उबटन
शास्त्रों में कहा गया है कि मकर संक्रांति के दिन तिल का उबटन लगाकर स्नान करना चाहिए। इस दिन संभव हो तो उगते सूर्य को अर्घ्य दें। माना जाता है कि ऐसा करने से रोग, दोष और भय से छुटकारा मिलता है। साथ ही, सूर्य देव की कृपा से व्यक्ति को जीवन में सुखसमृद्धि की प्राप्ति होती है।
तिल की आहुति दें
ज्योतिषीयों का कहना है कि मकर संक्रांति के शुभ दिन विधिविधान से पूजा-अर्चना करने के बाद हवन जरूर कराएं। इसके साथ ही हवन में तिल से आहुति अवश्य दें। ऐसा करने से दुर्भाग्य से छुटकारा मिल जाएगा और व्यक्ति को सौभाग्य की प्राप्ति होगी।
जल में तिल करें प्रवाहित
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर संक्रांति पर तिल के उपाय से नजर दोष से बचा जा सकता है। साथ ही, अच्छे स्वास्थ्य को लेकर भी कई उपायों के बारे में बताया गया है बता दें कि किसी भी तरह की बुरी नजर और बेहतर स्वास्थ्य के लिए काले तिल लेकर अपने ऊपर से वार लें और जल में प्रवाहित कर दें।
भोजन में भी करें तिल का इस्तेमाल
मकर संक्रांति के दिन तिल और गुड़ से बने लड्डू खाना शुभ माना गया है। मान्यता है कि इस दिन तिल का सेवन करने से व्यक्ति को रोगों से छुटकारा मिलता है। साथ ही, सूर्य देव और भगवान विष्णु प्रसन्न होकर भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।
तिला का करें दान
मकर संक्रांति के शुभ दिन तिल का दान करना शुभ माना गया है। पौराणिक कथा के अनुसार मकर संक्रांति के दिन शनि देव ने अपने पिता सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए काले तिल का इस्तेमाल किया था। ऐसे में सूर्य देव ने प्रसन्न होते हुए कहा था कि मकर संक्रांति के दिन तिल का दान करने से व्यक्ति को शनि दोष से निजात मिलेगी। इसलिए आज के दिन तिल का दान करना शुभ माना गया है।
तिल से करें स्नान
मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदी में स्नान और दान का खास महत्व बताया गया है। अगर आप नदी में स्नान नहीं कर सकते, तो नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है। इस दिन नहाते समय नहाने के पानी में थोड़े से तिल अवश्य मिला लें। ऐसा करने से व्यक्ति के ग्रह दोष दूर होते हैं और जीवन में आने वाली समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नहीं मिली जमानत इस बार भी बढ़ा दी गई पार्थ-कल्याणमय की सजा की अवधि

कोलकाताः इस बार भी सजा की अवधि को बढ़ दी गई है। दरअसल, शिक्षक भर्ती भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की आगे पढ़ें »

सिद्धार्थ-कियारा की शादी के पहले के फंक्शन्स की तैयारियां शुरू, जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस में ऐसे

मुंबईः सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी काफी समय से एक दूसरे को डेट कर रहे हैं। यह कपल, खबरों की मानें तो 6 फरवरी, 2023 आगे पढ़ें »

ऊपर