ओडिशा: आश्रयगृह की एचआईवी पीड़ित लड़कियों के यौन शोषण की जांच शुरू

Investigation of sexual assault of girls of HIV in Odisha

भवानीपटना : ओ‌डिशा राज्य के कालाहांडी जिला ‌स्थित एक आश्रयगृह में एचआईवी (ह्युमन इम्युनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम वायरस) एड्स संक्रमित लड़कियों के यौन शोषण की जांच शुरू हो गयी है। इसकी जानकारी पुलिस द्वारा दी गयी। साथ ही सूत्रों से यह पता चला है कि 8 वर्षीय एचआईवी संक्रमित लड़की के कथित यौन शोषण की जानकारी देने के बाद जिला प्रशासन, पुलिस, बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) और जिला बाल संरक्षण इकाई (डीसीपीयू) ने जांच शुरू कर दी है। जिस लड़की ने यौन शाेषण की शिकायत की है वह लड़की उसी केंद्र में रहती है।

लड़की की मां ने लगाया ये आरोप

ओडिशा के बोलंगिर की रहने वाली लड़की की मां ने आरोप लगाया कि आश्रयगृह अधीक्षक सरोज दास द्वारा उनकी बेटी और अन्य लड़कियों का यौन शोषण किया गया। महिला ने यह भी आरोप लगाया कि उसके बाद उसे अपनी बेटी को घर वापस लाने के लिए मजबूर किया गया। दास को पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया है। दास ने इस आरोप से इनकार करते हुए कहा कि यह उन्हें बदनाम करने की साजिश है। साथ ही दास ने भी इस मामले की गहन जांच की मांग की है।

इनके सिफारिश पर आश्रयगृह में रहती थी पीड़िता

पुलिस सूत्रों ने बताया कि जांच के तहत, वरिष्ठ अधिकारियों ने आश्रयगृह का औचक निरीक्षण किया। साथ ही दस्तावेजों का सत्यापन और कर्मचारियों तथा लड़कियों से बातचीत भी की। बोलंगिर की कथित पीड़िता अगस्त 2016 से सीडब्ल्यूसी और डीसीपीयू, बोलंगिर की सिफारिश पर आश्रयगृह में थी। हालांकि, 25 मार्च को उसकी मां यह कहते हुए उसे वापस ले गई कि वह अब अपनी बेटी की देखभाल करने में सक्षम है। सीडब्ल्यूसी के एक अधिकारी ने कहा कि उस समय सीडब्ल्यूसी के समक्ष उसकी ओर से कोई शिकायत नहीं की गई थी।

औपचारिक रूप से शिकायत नहीं करायी गयी दर्ज

कालाहांडी के सीडब्ल्यूसी ने भी बोलंगिर में अपने समकक्ष से इस मामले की जांच करने का अनुरोध किया है। भवानीपटना शहर पुलिस ने सरोज दास को पूछताछ के लिए थाने बुलाया। भवानीपटना पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक सत्य नंदा ने कहा कि जांच के तहत बोलंगिर से लड़की और उसकी मां को लाने के लिए एक पुलिस दल भी भेजा गया था। नंदा ने कहा कि हालांकि लड़की और उसकी मां ने अभी तक औपचारिक रूप से पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं करायी है, लेकिन पुलिस ने मीडिया की खबरों के आधार पर अपनी जांच शुरू कर दी है क्योंकि यह एक संवेदनशील मुद्दा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर