कोरोना से ठीक हुए मरीजों को अब हो रही हर्पीज

बाल झड़ने और नाखून से जुड़ी बीमारियां
नई दिल्‍ली : देश में कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार अब घट रही है। मंगलवार को अप्रैल के बाद पहली बार देश में 1 लाख से कम कोरोना संक्रमण के नए मामले दर्ज किए गए। मौतों की संख्‍या भी घटी है, लेकिन कोरोना से ठीक होने के बाद अब मरीजों में नाखून और बाल संबंधी बीमारियां दिख रही हैं। कुछ मरीजों में हर्पीज यानी दाद की समस्‍या भी देखने को मिल रही है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि लोग बढ़ते लक्षणों को नजरअंदाज ना करें।

मुंबई, दिल्‍ली और कुछ अन्‍य बड़े शहरों के डॉक्‍टर्स का कहना है कि कोरोना वायरस से उबरने के बाद अस्‍पताल से घर गए लोगों में त्‍वचा रोग सामने आ रहे हैं। इनमें सबसे आम बीमारी हर्पीज है। अधिकांश मरीजों में यह देखने को मिल रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्‍ली के इंद्रपस्‍थ अपोलो हॉस्पिटल के वरिष्‍ठ त्‍वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. डीएम महाजन का कहना है कि कई मरीजों में हर्पीज या दाद पहली बार सामने आ रही है। हालांकि कुछ मरीज पहले से ही हर्पीज से पीड़ित रहे हैं। ऐसा उनकी कमजोर इम्‍युनिटी के कारण हो रहा है।

वहीं मुंबई की त्वचा विशेषज्ञ और हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. सोनाली कोहली ने भी इस बाबत जानकारी दी है। उनका कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण से कमजोर हुई इम्‍युनिटी के कारण कई मरीजों में त्वचा के साथ-साथ बाल और नाखून की बीमारियां भी देखने को मिल रही है।

उनके अनुसार कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को दाद, बाल झड़ने और नाखून संबंधी बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। नाखून संबंधी बीमारी वाले मरीजों में मेलानोनीचिया भी देखने को मिल रहा है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि लोग इन लक्षणों को नजरअंदाज न करें और डॉक्‍टरी परामर्श लें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वैक्सीन लगवाने के बाद क्‍या पीरियड्स के दौरान हो रहींं ये दिक्कतें?

लंदन: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद हल्के साइड इफेक्ट को लेकर पहले ही विशेषज्ञ स्थिति साफ कर चुके हैं कि डरने की कोई बात नहीं आगे पढ़ें »

कोरोना मरीज की मौत को कब नहीं माना जाएगा कोविड डेथ…

नई दिल्ली : कोरोना से मौत पर मुआवजे की मांग के लिए सुप्रीम कोर्ट में जो अर्जी दाखिल की गई थी, उसपर केंद्र सरकार ने आगे पढ़ें »

ऊपर