झारखंड के 3 जिले में संचालित हो रही रात्रि पाठशाला

रांची : झारखंड के ग्रामीण बच्चों को पढ़ाई के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए रात्रि पाठशाला का संचालन हो रहा है। वर्ष 2014 में रांची के उसरी गांव से शुरू हुआ अभियान राज्य के 3 जिलों में फैल गया है। रांची के अलावा गुमला और लाेहरदगा जिले में 26 रात्रि पाठशाला संचालित हो रही है, जिसमें 2000 से अधिक बच्चे पढ़ रहे हैं। रात्रि पाठशाला संचालित करने का श्रेय पूर्व आईपीएस अधिकारी अरुण उरांव और गांव के एक युवा अनिल उरांव को जाता है। इन 26 रात्रि पाठशाला में 150 शिक्षक नि:शुल्क शिक्षा दे रहे हैं। नर्सरी से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों को यहां पढ़ाया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मधुशाला पर भी चुनाव आयोग की विशेष नजर!

देशी से लेकर विदेशी शराब की बिक्री का रखा जा रहा हिसाब सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः इस बार भी चुनाव आयोग की नजर मधुशालाओं पर भी है। आयोग आगे पढ़ें »

104 डिग्री मिला तापमान तो अंत में ही दे सकेंगे वोट

चुनाव आयोग की कोरोनाकाल में विशेष गाइडलाइन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना काल में विधानसभा चुनाव में संक्रमण से बचाव के लिए चुनाव आयोग ने विशेष पहल की आगे पढ़ें »

ऊपर