झारखंड में पर्यटन स्थलों के विकास की जरूरत : झारखंड उच्च न्यायालय

high court

रांची : झारखंड उच्च न्यायालय ने कहा है कि राज्य में कई पर्यटन स्थलों के जीर्णोद्धार और विकास की आवश्यकता है।
मुख्य न्यायाधीश रवि रंजन और न्यायमूर्ति सुजीत नारायण प्रसाद के खंडपीठ ने शुक्रवार को एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य के पर्यटन सचिव और पर्यटन निदेशक को सुनवाई की अगली तिथि पर मौजूद रहने के निर्देश दिये। मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी। पीठ ने कहा कि झारखंड में कई पर्यटन स्थल हैं और उन स्थानों पर बुनियादी ढांचे के विकास की जरूरत है। अदालत ने कहा कि मलूटी मंदिर, नेतरहाट, देवघर, पतरातू बांध, हुंडरू फॉल्स जैसे दर्शनीय पर्यटन स्थलों को आधुनिक स्तर का बनाये जाने की जरूरत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विद्युत ऊर्जा निगम लिमिटेड का करोड़ों का केबल चोरी

जमशेदपुर : टेल्को थाना अंतर्गत जेम्को के पास झारखंड विद्युत ऊर्जा निगम लिमिटेड का करोड़ों रुपये का केबल चोरी करने के आरोप में पुलिस ने आगे पढ़ें »

राज्यपाल मुर्मू ने महिला कॉलेज का किया उद्घाटन

लोहरदगा: झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू बुधवार लोहरदगा पहुंची। यहां उन्होंने सेन्हा प्रखंड के बरही में 9 करोड़ की लागत से निर्मित महिला कॉलेज का आगे पढ़ें »

ऊपर