लैंडर विक्रम के ऊपर से गुजरेगा नासा का ऑर्बिटर, संपर्क में मिल सकती सफलता

nasa

नई दिल्ली : चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के ऊपर से 17 सितंबर को नासा का ऑर्बिटर गुजरेगा। इस दौरान हो सकता है कि ऑर्बिटर विक्रम की तस्वीरें भी भेजे, जिससे लैंडर विक्रम की स्थिति स्पष्ट होने की संभावना है। इतना ही नहीं विक्रम से संपर्क करने में कामयाबी भी हा‌सिल हो सकती है। बता दें कि लैंडर विक्रम के बारे में इसरो भी पता लगा चुका है। साथ ही उससे संपर्क की कोशिशें भी अब तक जारी हैं।

ऑर्बिटर से इसरो को मिलेगी सहायता- नासा वैज्ञानिक

स्पेस फ्लाइट नाउ ने नासा के ऑर्बिटर के परियोजना वैज्ञानिक नोआह पेत्रो के हवाले से लिखा कि, ऑर्बिटर से मिली तस्वीरों के जरिये इसरो को लैंडर विक्रम की स्थिति का विश्लेषण करने में काफी सहायता मिल सकती है।

लैंडर विक्रम की असफलता की जांच करेगा इसरो

इसरो के एक वरिष्ठ सेवानिवृत्त अधिकारी ने बताया कि चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की असफलता की जांच होगी। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी मिशन में हुई गलती का पता लगाने की कोशिश करेगी। बता दें ‌कि वहीं लगभग एक हफ्ते बीत जाने के बाद चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से दोबारा संपर्क स्थापित करने की उम्मीद कम होती जा रही हैं।

विक्रम से संपर्क की अंतिम समय सीमा

बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (इसराे) के पास लैंडर विक्रम से संपर्क करने के लिए मात्र एक सप्ताह का समय शेष बचा है। इसरो विक्रम से संपर्क करने की आखिरी कोशिश में जुटा है। रोवर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर है। जिसका 7 सितंबर की घटना के बाद से लगभग एक सप्ताह निकल चुका है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश के 200 से अधिक शहरों में जियोमार्ट ने शुरू की सेवाएं, उत्पादों की खरीदारी पर मिलेगा डिस्काउंट

नई दिल्ली : हाल ही में लॉन्च हुए रिलायंस रिटेल का एक ई-कॉमर्स वेंचर जियोमार्ट अब देश के 200 से अधिक शहरों में सेवाएं दे आगे पढ़ें »

अप्रैल में सोने के निर्यात में करीब 100 फीसद की गिरावट दर्ज की गई

नई दिल्ली : हालिया वैश्विक गतिविधियों के कारण देश का स्वर्ण आयात लगातार घट रहा है। इस साल अप्रैल में लगातार पांचवे महीने देश के आगे पढ़ें »

ऊपर