मुस्लिम पक्ष का बयान : हम शीर्ष न्यायालय के फैसले का आदर करते हैं,लेकिन संतुष्ट नहीं

zilani

अयोध्या : अयोध्या मामले में शीर्ष न्यायलय ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को देने का आदेश दिया है। शीर्ष न्यायालय ने कहा है कि केंद्र सरकार को तीन महीने के अंदर ट्रस्ट की स्‍थापना करने के लिए योजना तैयार करना होगा। वहीं दूसरी ओर मुस्लिम पक्ष यानी कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में कहीं ओर 5 अकड़ की जमीन देने को कहा है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने यह फैसला सर्वसम्मति से दिया है। न्यायालय ने निर्मोही अखाड़े और शिया वक्फ बोर्ड के दावों को खारिज कर दिया है। हालांकि निर्मोही अखाड़े को ट्रस्ट में जगह देने की अनुमति को अपना लिया गया है। वहीं, शीर्ष न्यायालय के फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने असंतुष्टि जताई है। उन्होंने कहा कि हम न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन हम संतुष्ट नहीं हैं, हम इसपर सोच-विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि हम आगे की कारवाई पर जल्द ही निर्णय लेंगे।

विवादित जमीन का अधिकार हिन्दु पक्ष को दिया

शीर्ष न्यायालय ने अयोध्या मामले में विवादित जमीन का अधिकार हिन्दु पक्ष को सौंपते हुए कहा है कि केंद्र सरकार को तीन महीने के अंदर ट्रस्ट को स्‍थापित करना होगा। ट्रस्ट ही मंदिर निर्माण का काम देखेगी। न्यायालय के आदेश के अनुसार 2.77 एकड़ की विवादित जमीन का हक सरकार के ही अधीन रहेगा। सीजेआई के मुताबिक न्यायालय ने अपना फैसला सबूताें और जानकारियों के आधार पर लिया  है और संविधान की नजर में सब एक समान है। बाबरी मस्जिद विध्वंस पर शीर्ष न्यायलय ने कहा कि मस्जिद को गिराना कानून को तोड़ने के सामान है। अदालत ने आगे कहा कि अयोध्या विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड अपना दावा साबित करने में असफल रही।

मुस्लिम पक्षा सबूत पेश करने में रहा नाकाम

बता दें कि मुस्लिम पक्ष न्यायालय में ऐसे सबूत पेश करने में असर्मथ रहा है जिससे यह साबित हो कि भूमि पर उसका हक है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने कहा कि लिमिटेशन की वजह से सुन्नी वक्फ बोर्ड का दावा खारिज किया गया है। ऐएसआई की रिपोर्ट के आधार पर न्यायालय ने कहा कि मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाने की पुख्ता जानकारी नहीं है। सीजेआई ने कहा कि कानून सर्वोपरि है। सभी जजों की आपसी सहमति के बाद ही यह निर्णय लिया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

तेज रफ्तार से आ रही स्कूल बस लैंप पोस्ट से टकरायी, 20 घायल

कोलकाता : ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से तेज रफ्तार स्कूल बस लैंप पोस्ट से जा टकरायी। घटना चितपुर थानांतर्गत पी.के मुखर्जी रोड व काशीपुर रोड आगे पढ़ें »

ऊपर