पोस्‍टमार्टम हाउस से गायब हो गई महिला की आंख, पुलिस बोली-चूहों ने कुतरा

गोरखपुरः उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में खुदकुशी करने वाली एक महिला की आंख गायब होने से सनसनी फैल गई है। आंख कहां से कैसे गायब हुई है यह स्थिति स्पष्ट नहीं है। हालांकि पुलिस का कहना है कि उन्होंने शव को अपने कब्जे में लिया तब तक सब ठीक था। शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया गया था। उसके बाद क्या हुआ उन्हें नहीं पता है। वहीं आशंका जताई जा रही है कि पोस्‍टमार्टम हाउस में मौजूद चूहों ने महिला की आंख कुतर दी है। फिलहाल अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है आखिर महिला की एक आंख गायब कैसे हुई है।

क्या है मामला?

गुलरिहा इलाके के हरसेवकपुर नंबर दो चौहान टोला में गुरुवार की देर रात अनुराधा उर्फ रानी नामक महिला की पंखे से लटकती हुई लाश मिली थी। रात में दस बजे के करीब पति कमरे में गया तो शव को लटका देखकर पुलिस को सूचना दी। पति नीतेश चौहान का कहना था कि अनुराधा ने गुस्से में आत्महत्या कर ली है। हालांकि अनुराधा की मां ने दहेज हत्या का आरोप लगाया था। मां बेली देवी की तहरीर पर पुलिस ने पति नितीश के अलावा सुभाष, पन्ना, रामप्रवेश, शनि, शिवचन्द , लक्ष्मी, पूनम, निर्मला, शान्ति सहित दस लोगों के खिलाफ दहेज हत्या की धारा में केस दर्ज किया था।

पुलिस कार्रवाई कर रही थी कि इस बीच अनुराधा की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल शुरू हो गई, जिसमें उसकी एक आंख गायब दिखाई दे रही थी। देखने से लग यही रहा था कि किसी ने महिला की एक आंख निकाल ली है। इस मामले में जब गुलरिहा इंस्पेक्टर रवि राय ने बात हुई तो उन्होंने बताया कि शव मिलने की सूचना पर वह खुद मौके पर गए थे और पंखे से लटकती हुई लाश को अन्य लोगों के सामने उतरवाया था उसकी फोटो और वीडियो भी बनवाई थी। उस समय तक महिला की दोनों आंख सही सलामत थी। उन्होंने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजवा दिया था।

की जाएगी जांच

अब यह फोटो कहां कि है और कितनी सही है इसकी जानकारी नहीं। वहीं कुछ पुलिस कर्मियों ने आशंका जताई है कि महिला की आंख को पोस्‍टमार्टम हाउस के चूहों ने कुतर दी है। इसी वजह से एक आंख गायब दिख रही है। हालांकि यह जांच के बाद ही पता चलेगा कि चूहे ने ही कुतरी है या फिर आंख निकाल ली गई है। मौत के छह घंटे के भीतर अगर कार्निया निकाल ली जाए तो उसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

केशपुर में वोट लूटे नहीं जाते तो भाजपा की जीत होतीः शुभेंदु

मिदनापुर: एक समय तृणमूल के हेवीवेट नेता माने जाने वाले राज्य के मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी तृणमूल से नाता तोड़ने के बाद भाजपा के होकर आगे पढ़ें »

voter card

तनिक भी मिली लापरवाही तो गिरेगी गाजः चुनाव आयोग

कानून व्यवस्था की रिपोर्ट से असंतुष्ट कहा नहीं मानी आयोग की बात तो कड़ी कार्रवाई सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः चुनाव आयोग ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को आगे पढ़ें »

ऊपर