शिक्षा मंत्री बनने के 72 घंटे बाद मेवालाल चौधरी ने दिया इस्‍तीफा

– कहा- तेजस्वी पर करेंगे 50 करोड़ की मानहानि का मुकदमा

पटनाः विवादों में घिरे नीतीश कैबिनेट में शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने इस्तीफा दे दिया है। मेवालाल बुधवार को नीतीश कुमार से मुलाकात करने मुख्यमंत्री आवास पहुंचे थे। उनका इस्तीफा राजभवन पहुंच गया है। मेवालाल पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे, जिसके चलते पदभार ग्रहण करने के बाद से ही विपक्ष नीतीश कुमार पर हमला बोल रहा था। इस्तीफे के बाद मेवालाल ने कहा कि वो तेजस्वी पर 50 करोड़ रुपये का मानहानि के केस करेंगे। मेवालाल चौधरी ने कहा कि कोई भी केस तब साबित होता है जब आपके खिलाफ कोई चार्जशीट हुई हो या कोर्ट ने कुछ फैसला किया हो। न हमारे खिलाफ अभी कोई चार्जशीट हुई है न ही हमारे ऊपर कोई आरोप दर्ज हुआ है।

नीतीश ने अपने आवास पर बुलाया था

विवादों के बीच मेवालाल चौधरी को नीतीश कुमार ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास बुलाया था। सूत्रों का कहना था कि नीतीश कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर नियुक्ति मामले में भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे मेवालाल का इस्तीफा लगातार विपक्ष के हमलों और शपथ ग्रहण के बाद से शुरू हुए लंबे विवाद के बाद आया है। बता दें कि मेवालाल चौधरी तारापुर विधानसभी सीट से विधायक हैं और नीतीश सरकार में उन्हें मंत्री बनाया गया था।

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती मामले में घोटाले का आरोप

मेवालाल पर असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती मामले में घोटाले का आरोप हैं। बिहार एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में कुलपति रहने के दौरान उन पर नियुक्ति घोटाले के आरोप लगे थे। इस मामले में उनके खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज हुई थी और उन्हें पार्टी से भी निकाल दिया गया था। मेवालाल चौधरी के शपथ ग्रहण के बाद से ही विपक्ष हमलावर था। तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा था कि भ्रष्टाचार के गंभीर मामलों में आरोपी मेवालाल चौधरी को शिक्षामंत्री बनाकर क्या नीतीश कुमार ने उन्हें भ्रष्टाचार का ईनाम और लूटने की खुली छूट दी है। वहीं राजद प्रमुख लालू ने भी नीतीश कुमार पर निशाना साधा था।

लालू ने कहा था कि नीतीश ने पहली कैबिनेट में नियुक्ति घोटाला करने वाले मेवालाल को मंत्री बनाकर अपनी प्राथमिकता बता दी। विडंबना देखिए जो भाजपाई कल तक मेवालाल को खोज रहे थे आज मेवा मिलने पर मौन धारण किए हैं। दूसरी ओर कांग्रेस भी इस मामले में नीतीश कुमार को घेरने में पीछे नहीं रही। कांग्रेस ने कहा कि मेवालाल जैसों को शिक्षा मंत्री बनाकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी छवि को खुद ही धूमिल कर राजनीतिक प्रतिष्ठा को हल्का बना दिया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

टी-20 में ऑस्ट्रेलिया को कड़ी चुनौती देगा भारत, ऑस्ट्रेलिया में 12 साल से सीरीज नहीं हारी टीम इंडिया

कैनबरा : एक दिवसीय श्रृंखला में विकल्पों की कमी के कारण मिली हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से शुरू हो रही तीन मैचों आगे पढ़ें »

रेसलिंग वर्ल्ड कप में उतरेंगे भारत के 24 पहलवान

नयी दिल्ली : कोरोना के बीच सर्बिया के बेलग्रेड में 12 से 18 दिसंबर के बीच इंडिविजुअल रेसलिंग वर्ल्ड कप खेला जाएगा। इसमें दीपक पुनिया, आगे पढ़ें »

ऊपर