पंजाब में सरकारी आदेश के बावजूद नहीं बंद हुए मेडिकल कॉलेज

medical college

जालंधर/अमृतसर : महामारी घोषित किए जा चुके घातक कोरोना वायरस के मद्देनजर केन्द्र तथा पंजाब सरकार द्वारा 31 मार्च तक सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने के आदेशों का पंजाब के मेडिकल कॉलेज पालन नहीं कर रहे हैं, जिससे इन कॉलेजों में पढ़ने वाले हजारों विद्यार्थियों का स्वास्थ्य खतरे में पड़ सकता है। बता दें कि पंजाब सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा था कि कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च तक राज्य के सभी सरकारी तथा गैर सरकारी स्कूल और कॉलेज बंद रखे जाएं लेकिन इस आदेश के विपरीत पंजाब की बाबा फरीद मेडिकल तथा साइंस यूनिवर्सिटी और होशियारपुर स्थित गुरु रविदास आयुर्वेदिक यूनिवर्सिटी ने अपने कॉलेजों को जारी रखने का आदेश जारी किया है। जिससे इन कॉलेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों में भय पाया जा रहा है।

अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं अगले आदेश तक जारी

श्री गुरू रविदास आयुर्वेदिक यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ. संजीव गोयल ने मंगलवार को पत्र जारी कर कहा कि कोरोना वायरस कोविड-19 के मद्देनजर किसी भी प्रकार की स्थिति से तत्काल निपटने के लिए आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक और यूनानी कॉलेज और अस्पताल यथावत कार्यरत रहेंगे। उन्होंने कहा कि कॉलेजों और अस्पतालों में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं अगले आदेश तक जारी रखी जाएंगी।

आदेशों उल्‍लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी

उल्लेखनीय है कि जालंधर के जिला उपायुक्त श्री वरिंदर कुमार शर्मा और अमृतसर के जिला उपायुक्त शिवदुलार सिंह ढिल्लो ने आदेश जारी कर कहा था कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सरकार द्वारा स्कूल और कॉलेज बंद करने के आदेशों का पालन नहीं करने वाले संस्थानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टिकट के बीच उम्रदराज : तो क्या इस बार कट जायेगा कइयों का टिकट !

कई जिलों में हैं 72 - 80 उम्र के करीब वाले विधायक हावड़ा में संख्या है अधिक पार्टी का फैसला मानेंगे - विधायक कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस इस आगे पढ़ें »

सबकी निगाहें आज तृणमूल और गठबंधन के प्रत्याशियों पर

रविवार को भाजपा खोलेगी पत्ते कोलकाता : चुनाव की घोषणा के बाद अब लोग प्रत्याशियों की घोषणा का इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि आगे पढ़ें »

ऊपर