कहीं मास्क के इस्तेमाल में आप तो नहीं कर रहे ये बड़ी गलती? बढ़ सकता है कोरोना का खतरा

कोलकाताः कोरोना वायरस पहले से भी विकराल रूप लेकर सामने आया है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि डबल म्यूटेंट वायरस काफी खतरनाक है। इस बीमारी का इलाज अभी तक नहीं खोजा गया है, ऐसे में खुद को सुरक्षित करने के लिए सतर्क रहना ही सबसे अच्छा तरीका है। कोरोना से बचने के लिए बीते साल से मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिग पर जोर दिया जा रहा है। हालांकि लोग इसमें बड़ी चूक कर रहे हैं जिनसे वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। यहां एक्सपर्ट्स के सुझाए कुछ तरीके हैं जिनसे आपको कोरोना से बचाव करने में काफी मदद मिल सकती है।
मास्क लगाने में ना करें ये गलती

कोरोना से बचने के लिए लोग मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि इसमें बड़ी चूक लोगों की मुश्किलें बढ़ा रही है। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के पल्मोनरी ऐंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन हेड डा. वेद प्रकाश ने बताया, मास्क की बाहरी सतह पर कोरोना वायरस के पाए जाने के चांसेज सबसे ज्यादा होते हैं। जब आप मास्क पहनकर बाहर निकलते हैं या किसी कोरोना संक्रमित से बात करते हैं तो आपके मास्क पर वायरस होने के संभावना होती है। ऐसे में अगर आप कुछ देर बाद मास्क को निकालकर जेब में, बैग में या हाथ में ले लेते हैं तो वहां वायरस पहुंच सकता है। लोग मास्क छूकर अक्सर हाथ धोना और सैनिटाइज करना भूल जाते हैं और इसको लेकर जरा भी सतर्कता नहीं बरतते। यह तरीका संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकता है। बेहतर होगा आप मास्क को कॉमन जगह पर ना रखें। इसे पेपर बैग में रखें और हटाने के बाद हाथ धोएं। डॉ वेद प्रकाश सलाह देते हैं कि बाहर निकलें या घर पर कोविड पेशंट हो तो दो मास्क का इस्तेमाल करें। अंदर सर्जिकल मास्क और बाहर से टाइट फिटेड लिनेन मास्क लगाएं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में ओवरलोडिंग रोकने के लिए सरकार की कड़ी कार्रवाई

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में ओवरलोडिंग एक गंभीर समस्या है। इससे न केवल दुर्घटनाएं घटती है बल्कि सरकार को इससे काफी नुकसान भी उठाना पड़ता आगे पढ़ें »

जीत गई काव्या! अनुपमा और वनराज का हुआ तलाक, लौटाई प्यार की बड़ी निशानी

मुंबईः टीवी सीरियल ‘अनुपमा’ में हर दिन कुछ नया न हो क्या ऐसा हो सकता है? बिल्कुल भी नहीं। अनुपमा और वनराज अब हमेशा के आगे पढ़ें »

ऊपर