बैंगन के पत्ते सेहत के लिए हैं बेहद लाभकारी, फायदे जान लोगे तो भूलकर भी नहीं फेंकोगे

कोलकाता : भारत में बैगन को कई तरह से खाया जाता है। इसे कहीं सब्जी तो कहीं भरवा बैंगन और भरते के रूप में खाया जाता है, हम सब बैंगन का तो सेवन करते हैं, लेकिन हम बैंगन के पत्तों को भूल जाते हैं। इसलिए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं बैंगन के पत्तों के फायदे।
बैंगन के पत्तों के फायदे
1. किडनी को साफ करते हैं : बैंगन की पत्तियां किडनी के लिए डिटॉक्सिफायर का काम करती हैं। ये नैचुरल तरीके से किडनी को साफ करने में मदद करती हैं। इसके लिए आपको एक बर्तन में थोड़ा पानी रखना है और फिर उसमें 5-6 बैंगन की पत्तियों को डालकर उबाल लेना है। अब इस पानी को छान लें और कम से कम दिन में तीन बार इसका सेवन करें।
2. कोलेस्ट्रॉल स्तर कम करते हैं : अगर आप बैंगन के पत्तों का सेवन करते हैं, तो ये आपके बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं। अगर कोलेस्ट्रॉल कम होगा, तो इससे आपका वजन कम होने में भी मदद मिल सकती है।
3. सूजन को कम करते हैं : हम देखते हैं कि व्यक्ति कई बार अलग-अलग तरह की सूजन से पीड़ित होता है। कई लोग कैंसर से पैदा होने वाली सूजन से परेशान रहते हैं। ऐसे में अगर आप बैंगन के पत्तों का सेवन करते हैं, तो ये आपकी सूजन को कम करके आपको आराम देने का काम कर सकते हैं। क्योंकि इन पत्तों में फाइटोकेमिकल्स मौजूद होता है, जिसकी वजह से सूजन कम करने में मदद कर पाते हैं।
4. खून की कमी को दूर करते हैं : बैंगन की पत्तियां एनीमिया से जूझ रहे लोगों के लिए फायदेमंद हैं । बैंगन की पत्तियों का सेवन करने से ये शरीर में होने वाली खून की कमी को भी दूर करने में मदद करती हैं।
5 शुगर लेवल कंट्रोल रखे : अगर आप मधुमेह की समस्या से पीडि़त हैं तो भी आपको सफेद बैंगन की पत्तियों का सेवन अवश्य करना चाहिए। दरअसल, सफेद बैंगन की पत्तियों में फाइबर और मैग्नेशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं और यह पोषक तत्व आपके रक्त में शुगर के स्तर को नियंत्रित करते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः राज्य में कोविड के बीच बच्चों में डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस

एक्सपर्ट ने जागरूक रहने की दी सलाह सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोविड काल के बीच अचानक बच्चों में डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस के मामले सामने आए हैं। आगे पढ़ें »

ऊपर