बड़ी खबर : ममता ने दी चेतावनी, भवानीपुर हारी तो हार जाएगा भारत

भाजपा को कहा, हिंसा उन्मुक्त पार्टी
कहा : नंदीग्राम में मुझे हराना ही था उनका मुख्य मकसद
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : चुनावी प्रचार में पहुंची ममता बनर्जी ने लोगों से वोट अपील करते हुए कहा कि अगर वह भवानीपुर हारती है तो भारत हार जाएगा। इसलिए एक दिन की बात है हर कोई अपना वोट दे और तृणमूल को विजयी बनाएं। ममता ने भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि विधानसभा में भाजपा का मकसद मुझे नंदीग्राम में हराने का था। जिसमें उन्होंने पूरा जोर लगाया। ममता ने कहा कि रिक्वेस्ट किया गया था जिसके बाद मैंने भवानीपुर की जगह नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। वहां भाजपा इस तरह करेंगी इसका अंदाजा नहीं था।
एजेंसी से लेकर अस्त्र तक का किया गया इस्तेमाल
ममता के आरोप लगाया कि चुनाव जीतने के लिए भाजपा ने एजेंसी से लेकर अस्त्र तक का इस्तेमाल किया। 34 सालों तक जब वाममोर्चा सरकार थी तब ​ईडी या सीबीआई जांच उनके पीछे नहीं लगायी गयी है। अभी राज्य में तृणमूल अच्छा काम कर रही है तो उसके पीछे एजेंसी लगायी जा रही है। भाजपा ने सौगत रॉय तक को नहीं छोड़ा गया, पार्थ चटर्जी को भी नहीं छोड़ा गया।
फेसटाइम, ह्वट्सएप कोई एप नहीं है सेफ
ममता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि पेगासम के जरिये उनका, पीके और अभिषेक का फोन टेप किया गया। ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि फोन ऑफ होने के बाद भी यह प्रक्रिया की जाती है। उन्होंने पीएम केयर फंड के ऑडिट पर भी सवाल उठाया तथा कहा कि अगर सीएम फंड का ऑडिट होता है तो पीएम केयर फंड का क्यों नहीं हो सकता है।
बिहार-यूपी में नहीं है कानून-व्यवस्था
ममता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि कानून-व्यवस्था की बात करने वाले पहले बिहार और यूपी देखे, वहां कानून-व्यवस्था नाम की चीज ही नहीं है। असम की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वहां शव पर पाशविक तरीके से नाच किया गया। देखकर शर्म आ रही थी। भाजपा हिंसा उन्मुक्त वाली पाशविक पार्टी है। राज्य में एक भाजपा नेता की मौत को लेकर भी वे राजनीति करते है। कहा जा रहा है कि उसकी मौत के पीछे तृणमूल का हाथ है जबकि सर्जरी के कारण उसकी मौत हुई। भाजपा की इतनी हिम्मत कि वे सीएम आवास के बाहर शव लेकर पहुंच गये। इस तरह तृणमूल मौत पर राजनीति नहीं करती है।
भवानीपुर में हुआ शत-प्रतिशत वैक्सिनेशन
ममता ने दावा किया कि भवानीपुर में कोविड का शत-प्रतिशत वैक्सिनेशन हो चुका है। कोलकाता में 80 फीसदी वैक्सिनेशन हुई है तथा पूरे राज्य में साढ़े 5 करोड़ लोगों को डोज दे दिया गया है। उन्होंने कहा कि बच्चों को मिलाकर राज्य के लिए 14 करोड़ डोज की जरूरत है जो जितनी जल्दी मिलेगी वैक्सनेशन उतनी जल्दी किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर