भोग और मोक्ष के लिए महाशिवरात्रि पर कर सकते हैं ये काम

कोलकाताः सनातन धर्म में महाशिवरात्रि का विशेष महत्व है। इस बार यह पर्व फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन मनाया जाएगा और यह शुभ तिथि 11 मार्च दिन गुरुवार को है। इस बार महाशिवरात्रि पर शुभ संयोग पर धनिष्ठा नक्षत्र में शिव एवं पार्वती देवी की पूजा होगी। इस दिन श्रद्धालु व्रत, पूजा और पाठ के साथ जलाभिषेक व रूद्राभिषेक कर बाबा भोलेनाथ को प्रसन्न कर सौभाग्य, समृद्धि व संतान प्राप्ति का वर मांगते हैं। पुराणों में बताया गया है कि महाशिवरात्रि का दिन भगवान शिव को बेहद पसंद है क्योंकि इस रात्रि को शिव और शक्ति का मिलन हुआ था। इस पवित्र दिन पर ही माता पार्वती का शिव के साथ विवाह हुआ था, उसी उपलक्ष्य में ज्यादतर लोग व्रत रखते हैं। इस शुभ तिथि पर शास्त्रों में कुछ उपाय बताए गए हैं, जिनके करने से मोग और मोक्ष की प्राप्ति होती है, साथ ही पूरे परिवार को शिव-पार्वती का आशीर्वाद मिलता है…
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से परिवार में आएगी समृद्धि
महाशिवरात्रि की शुभ तिथि पर मध्यरात्रि में शिव और शक्ति की पूजा करने का विधान बताया गया है। इस दिन आरोग्य वृद्धि के लिए सवा लाख बार महामृत्युंजय मंत्र का जप करना चाहिए। ऐसा करने से आपके साथ-साथ आपके परिवार का ना सिर्फ स्वास्थ्य अच्छा रहता है बल्कि हर तरह के भय से मुक्ति मिलती है और पराक्रम में वृद्धि होती है। साथ ही घर-परिवार में सुख-समृद्धि आती है और भोलेनाथ का आशीर्वाद मिलता है।
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से धन वृद्धि के बनेंगे योग
घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहे इसके लिए महाशिवरात्रि पर सवा किलो जौं की पोटली को शिवलिंग से स्पर्श करवाएं फिर उसको जहां धन रखते हैं, जैसे अलमारी या फिर तिजोरी में उसको रख दें, ऐसा करने से घर में सुख-शांति के साथ-साथ आपके सभी कार्य बनने लगते हैं और घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और इससे धन वृद्धि के योग बनने लगते हैं।
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से धन वैभव की होगी प्राप्ति
महाशिवरात्रि के शुभ दिन पर चारों पहरों में चार चीजों से शिवलिंग का अभिषेक करें। इसके लिए आप दिन के पहले पहर में गंगाजल, दूसरे पहर में दूध, तीसरे पहर में दही और अंतिम पहर में शहद और गंगाजल से शिवलिंग का अभिषेक करें। ऐसा करने से बहुत उत्तम फलदायी माना गया है, इससे मोग व मोक्ष की प्राप्ति होती है। अर्थात आपको धरती पर धन वैभव की प्राप्ति होती है और अंत में शरीर त्यागने के बाद उत्तम लोक में स्थान प्राप्त होता है।
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से भाग्य होगा जागृत
महाशिवरात्रि की रात्रि को शिव का जागरण करना चाहिए और उनके मंत्रों का जप करना चाहिए। इस रात में सोने पर कहते हैं कि भाग्य भी सो जाता है। इसलिए जागरण करते हुए शिव पुराण, शिव स्तुति, भजन, कीर्तिन आदि महादेव से संबंधित जप-तप करना चाहिए। शास्त्रों में बताया है कि महाशिवरात्रि पर रात्रि में शिव जागरण करने पर भाग्य भी जागृत होता है और हमेशा उन्नति मिलती है।
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से कालसर्प दोष होगा दूर
महाशिवरात्रि के दिन मुख्य दरवाजे की चौखट को हल्दी के पानी से धुलना चाहिए और हल्दी से स्वास्तिक बनाना चाहिए। रात्रि के समय ईशान कोण में दीप जलाकर शिवजी के मंत्र और बीज मंत्र का जप करें। ऐसा करने से कालसर्प दोष दूर हाता है, ऐसी मान्यता है। साथ ही शत्रुओं के कारण परेशान लोगों के लिए यह उपाय काफी लाभकारी साबित होता है।
महाशिवरात्रि पर इस उपाय से शरीर में आएगी ऊर्जा
महाशिवरात्रि के दिन गुप्त दान करना विशेष लाभप्रद बताया है। अगर आपके घर के आसपास किसी गरीब कन्या का विवाह हो रहा हो तो उस विवाह गुप्तदान करके आएं। ऐसा करने से वैवाहिक जीवन में खुश-शांति आती है और पार्टनर के साथ तालमेल व सहयोग बढ़ता है। इसके साथ ही इस दिन शिव के बीज मंत्र का जप करें। कहते हैं कि सवा लाख बार शिव के बीज मंत्र का जप करने से शरीर में ऊर्जा और शक्ति का संचार होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पिता का किया अंतिम संस्कार मगर वायरल वीडियों में दिखे जीवित पिता

नई दिल्ली : कुछ दिनों पहले अंतिम संस्कार के लिए लाए गए कोविड रोगी के जीवित होने की घटना सामने आई थी। उसके बाद अब आगे पढ़ें »

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में मिलेगा दो महीने का राशन

कोलकाताः केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि देश के 80 करोड़ लोगों आगे पढ़ें »

ऊपर