माघ पूर्णिमाः अच्छी किस्मत के लिए आज करें ये काम, घर आएंगी खुशियां

कोलकाताः हिन्दू धर्म में पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने, दान और ध्यान करने से पुण्य फलों की प्राप्ति होती है। वैसे तो साल में 12 पूर्णिमा तिथियां होती हैं जिसमें पूर्ण चंद्रोदय होता है लेकिन माघ महीने की पूर्णिमा का अपना अलग महत्व है। माघ महीने की पूर्णिमा को माघी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों और मुख्य रूप से गंगा नदी में स्नान करते हैं। हिन्दू मान्यतानुसार पूर्णिमा तिथि को बेहद शुभ माना जाता है। हर मास के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि को पूर्णिमा तिथि होती है और उसी तिथि से नए माह की शुरुआत होती है।
इस साल माघ मास की पूर्णिमा 27 फरवरी 2021 (शनिवार) को है। इस दिन दान पुण्य और स्नान करने का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि माघी पूर्णिमा या माघ पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपनी पूर्ण कलाओं के साथ उदित होता है। कहा जाता है कि माघ पूर्णिमा के दिन कुछ विशेष काम करना अत्यंत फलदायी होता है और ये काम करने से घर में सुख समृद्धि के साथ धन-धान्य भी आता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माघ मास का बड़ा महत्व है। ऐसी मान्यता है कि इस माह में स्नान, जप-तप और दान करने से व्यक्ति को पुण्य लाभ मिलता है। साथ ही व्यक्ति भौतिक रूप से भी सारे सुखों को भोगता है। यह पूरा मास इस लोक और परलोक दोनों में ही अनंत सुख को देने वाला कहा गया है। इस माह में तीर्थ स्थान व्रत का महत्व है। खासतौर पर पूर्णिमा तिथि को विशेष काम करने चाहिए। आइए जानते है कौन से हैं वो काम।
पवित्र नदी में स्नान
कहा जाता है कि माघ पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों जैसे गंगा में स्नान करने से और दान पुण्य करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन संगम में स्नान करना भी अत्यंत फलदायी होता है। इसी वजह से माघ पूर्णिमा के दिन काशी, प्रयागराज और हरिद्वार जैसे तीर्थ स्थानों में स्नान करने का विशेष महत्व बताया गया है। हिन्दू मान्यता के अनुसार माघ पूर्णिमा पर स्नान करने वाले लोगों पर भगवान विष्णु मुख्य रूप से प्रसन्न होते हैं और उन्हें सुख सौभाग्य और धन-संतान तथा मोक्ष प्रदान करते हैं।
पूजा-पाठ है जरूरी
मान्यतानुसार माघ पूर्णिमा के दिन शुद्ध भाव से पूजा-पाठ का विशेष महत्व बताया गया है। इस दिन पूजा करने से व्यक्ति को सभी पापों से मुक्ति मिलती है। मुख्य रूप से पूर्णिमा के दिन विष्णु भगवान का पूजन पूरे श्रद्धा भाव से करने से घर के सभी क्लेष दूर हो जाते हैं। कहा जाता है कि इस दिन सर्वप्रथम स्नान करके शुद्ध वस्त्र धारण करके पूजन करना विशेष फलदायी होता है।
तिल का दान है शुभ
माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा के दौरान तिल चढ़ाने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु को तिल चढ़ाने और तिल का दान देने से कई पापों से मुक्ति मिलती है। इस दिन तिल के अलावा अन्य चीजों का दान भी विशेष फलदायी होता है। माघ पूर्णिमा तिथि के दिन दान करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। इसलिए इस दिन अपनी सामर्थ्य के हिसाब से गरीबों को दान जरूर देना चाहिए। कहते हैं कि माघ पूर्णिमा में अन्न, वस्त्र या धन के दान से घर में सुख-शांति बनी रहती है। यही नहीं सामर्थ्य अनुसार किया गया दान, घर को धन और धान्य से परिपूर्ण कर देता है।
सत्यनारायण की कथा
कहा जाता है कि पूर्णिमा तिथि के दिन मुख्य रूप से भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है। इसलिए खासतौर पर माघ पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण की कथा का पाठ करना या कथा सुनना अत्यंत लाभकारी होता है। इस दिन परिवार के साथ मिलकर सत्यनारायण भगवान की कथा का पाठ करें और शुद्ध मन से प्रसाद बनाकर सभी को वितरित करें।
गीता और रामायण का करें पाठ
माघ पूर्णिमा में गीता और रामायण जैसी पवित्र और धार्मिक पुस्तकों का पाठ करना उत्तम माना जाता है। कहते हैं कि ऐसा करने से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं और घर में कभी भी धन-धान्य की कमी नहीं रहती है। यदि आपके पास समय की कमी है तब भी गीता और रामायण के कुछ श्लोकों का पाठ जरूर करें। निश्चित रूप से पुण्य की प्राप्ति होगी।

चन्द्रमा को अर्घ्य दें
माघ पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपनी सम्पूर्ण कलाओं से लिप्त होता है। यदि घर में पति-पत्नी के बीच झगड़े होते हैं तो माघ पूर्णिमा के दिन पति-पत्नी साथ में मिलकर चन्द्रमा के दर्शन करके अर्घ्य दें। ऐसा करने से घर के झगड़े कम हो जाते हैं।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

मास्क पहनने के लिए कहने पर महिला यात्री से बदसलूकी, एक गिरफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : ऑटो में बिना मास्क के सफर कर रहे व्यक्ति को मास्क पहनने को कहना एख महिला को काफी महंगा पड़ा गया। आरोप आगे पढ़ें »

पुलिस कर्मियों में संक्रमण बढ़ते देख फिर चालू हो रहा क्वारंटाइन सेंटर

डुमुरजला पुलिस अकादमी और भवानीपुर पुलिस अस्पताल में चालू हुआ केन्द्र सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले आगे पढ़ें »

ऊपर