सेक्स लाइफ को और बेहतर बना देंगे लुब्रिकेंट, जानिए कौन-सा लुब्रिकेंट है बेहतर

कोलकाता : जब आपको सेक्स के दौरान नेचुरल लुब्रिकेंट नहीं मिलता और योनि के सूखेपन के कारण आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कभी-कभी सेक्स असुविधाजनक, असंयमित होता है। हम यहां आपको यह बताना चाह रहे हैं कि कई बार सेक्स करते हुए ऐसा भी देखा गया है जब आपको सेक्स के दौरान नेचुरल लुब्रिकेंट नहीं मिलता और योनि के सूखेपन के कारण आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यह ध्यान देने योग्य है कि इस सामान्य समस्या के कई समाधान हैं, जैसे कि चिकनाई वाले कंडोम का उपयोग करना। लेकिन इसके अलावा भी आप बहुत कुछ इस्तेमाल कर सकते हैं। वह है- सेक्स लुब्रिकेंट खरीदना और उसका इस्तेमाल करना।
लुब्रिकेंट का उपयोग किस लिए किया जाता है?
जब योनि में सूखेपन की शिकायत हो, तब एक सेक्स लुब्रिकेंट इन परिस्थितियों में मदद कर सकता है। इसके अलावा, लुब्रिकेंट को आसानी से किसी पुरुष के लिंग या विभिन्न सेक्स टॉयज पर भी अप्लाई किया जा सकता है ताकि उन्हें अधिक फिसलन भरा बनाया जा सके।
पानी आधारित सेक्स लुब्रिकेंट
ये सबसे आम सेक्स लुब्रिकेंट माने जाते हैं। ये विभिन्न ब्रांड्स में उपलब्ध हैं; इसके अलावा, इनमें कोई स्वाद नहीं होता, यह प्राकृतिक लुब्रिकेंट की तरह महसूस किया जा सकता है और यह लुब्रिकेंट आपकी संवेदनशील त्वचा में जलन पैदा करने की संभावना कम करते हैं। इसके अलावा, ये ल्यूब ओरल सेक्स में व्यावधान नहीं डालते हैं। चूंकि ये ल्यूब पानी पर आधारित होते हैं, वे आपकी त्वचा द्वारा जल्दी से अवशोषित कर लिए जाते हैं, इसलिए जल्दी सूख भी जाते हैं। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि बहुत सारे पानी-आधारित सेक्स लुब्रिकेंट में ग्लिसरीन होता है, जो महिलाओं में काफी आसानी से संक्रमण का कारण बन सकता है और सेक्स के बाद की सफाई को आवश्यक बना सकता है।
तेल आधारित सेक्स लुब्रिकेंट
तेल आधारित सेक्स लुब्रिकेंट काफी अच्छे माने जाते हैं। सेक्स करने के लिए बहुत से लोग तेल आधारित लुब्रिकेंट का ही इस्तेमाल करते हैं। तेल आधारित लुब्रिकेंट की खास बात यह है कि यह आपकी रसोई में किसी भी समय मिल सकता है। तेल आधारित लुब्रिकेंट जैसे कि जैतून और नारियल का तेल। तेल आधारित लुब्रिकेंट कि खास बात यह है कि ये आपको एक अच्छे सेक्स का अनुभव तो देगा ही, साथ ही यह आपकी सेक्सी मालिश को भी मजेदार बना सकता है। हालांकि, इसका नकारात्मक पक्ष तब आता है; जब आप एक लेटेक्स कंडोम का उपयोग कर रहे होते हैं। कंडोम के साथ तेल लुब्रिकेंट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे कंडोम के फटने का डर रहता है।
सिलिकॉन आधारित सेक्स लुब्रिकेंट
सिलिकॉन पर आधारित लुब्रिकेंट में अक्सर पानी नहीं होता है। ध्यान दें कि यह कुछ लोगों के लिए एक बड़ा फायदा हो सकता है, जबकि कइयों के लिए नुकसानदेह। सिलिकॉन-आधारित ल्यूब अन्य ल्यूबों की तुलना में अलग महसूस कराते हैं। मुख्यतः सिलिकॉन आपकी त्वचा द्वारा अवशोषित नहीं होता है, जबकि पानी या तेल के मामले में ऐसा नहीं है। वह आपकी त्वचा के साथ अवशोषित हो जाते हैं। इस तरह के लुब्रिकेंट की खास बात यह है कि यह ज्यादा लंबे समय तक रह सकते हैं।
प्राकृतिक लुब्रिकेंट
प्राकृतिक लुब्रिकेंट आपके लिए सही हो सकते हैं। यह बहुत ही फायदेमंद भी माने जाते हैं। प्राकृतिक लुब्रिकेंट की बात करें तो नारियल का तेल एक बेहद लोकप्रिय विकल्प है। हालांकि, यह लुब्रिकेंट भी कंडोम के फटने और चादरों को दागने के जोखिम को बढ़ा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

इस दिशा में सिर रखकर भूलकर भी न सोएं, जानिए किस तरह सोने से मिलेगा लाभ

कोलकाताः अच्छी सेहत के लिए भरपूर नींद लेना जरूरी है। दिनभर थकने के बाद हम रात को सोते समय इस बात का ध्यान नहीं रखते आगे पढ़ें »

यहां बोरिंग से पानी की जगह निकल रही है आग

मध्य प्रदेश : प्राकृतिक खनिजों से भरे मध्य प्रदेश से एक और हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। राज्य के दमोह जिले के आगे पढ़ें »

ऊपर