7 साल बाद जब लड़की को हुआ एहसास कि उसे अपनी ही सहेली से…

कोलकाताः व्यक्ति जब किसी से प्यार करता है, तो वह उसके लिए सबकुछ करने की कोशिश करता है। वह अपने आप तक को भूल जाता है, लेकिन कुछ लोग इसकी कदर नहीं करते और अपने ही साथी का फायदा उठाना शुरू कर देते हैं। वे उसके साथ जैसा चाहे, वैसा बर्ताव करते हैं और हर्ट पर हर्ट करते जाते हैं। इस सिचुएशन को फेस करने वाले अक्सर ऐसे साथी की तलाश करते हैं, जो उनकी भावनाओं की कदर करे, लेकिन कई बार उनका सोल पार्टनर उनके सामने ही होता है, जिसका एहसास उन्हें बाद में होता है। ऐसी ही एक कहानी एक लड़की ने शेयर की है।
रिलेशनशिप में सिर्फ देना सीखा है
मैं हमेशा से ऐसी लड़की रही हूं जो रिलेशनशिप में साथी की केयर करना और संभालना जानती है। इसे मैं गर्व के साथ कह सकती हूं क्योंकि मैं ये स्वीकार कर चुकी हूं कि अपनी खूबियों को अपनाने में कोई समस्या नहीं है। रिश्ते में होने पर मैं हमेशा 100 प्रतिशत देती हूं और बदले में बस मुझे कुछ चाहिए तो आश्वासन की साथी मेरे साथ है। मैं कर्क राशि की हूं, ऐसे में मुझसे और उम्मीद भी क्या की जा सकती है?
जब से मैंने डेटिंग, प्यार और रिलेशनशिप का मतलब समझा है, तब से मैं एक से दूसरे रिश्ते में कई बार गई। मैं उनमें से नहीं हूं जो बोरियत होने पर किसी के साथ इन्वॉल्व हो जाए या उससे ऊबने लगे। हालांकि, मैं कभी भी अकेले नहीं रह पाती। मुझे हमेशा अपने पार्टनर का साथ चाहिए होता है। भले ही वह मेरे साथ खामोशी से बैठा रहे, लेकिन वह बस मेरे साथ रहे। मेरे लिए ये ही रोमांटिक रिलेशनशिप की डिमांड होती है।
दोस्तों ने की मदद
मैं आपको बता दूं कि मेरे कोई ज्यादा दोस्त नहीं हैं। पर कुछ दोस्त हैं जिन पर मैं बहुत भरोसा करती हूं। वे मुझे बहुत अच्छी तरह से जानते हैं कि मैं अंदर से कैसी हूं और बाहर से कैसी हूं? मेरे इन दोस्तों ने मुझे अक्स र उन लोगों के लिए भी रोते हुए देखा है, जो मेरे आंसुओं के लायक ही नहीं थे। यही नहीं इनमें से कुछ तो ऐसे भी थे जिनके लिए रोना तो दूर मुझे तो उनकी ओर देखना तक नहीं चाहिए था।
दोस्तों ने अक्सर मुझे ऐसी स्थितियों से बाहर निकलने में मदद की है। आप मानेंगे नहीं इन्होंने मुझे ऐसी स्थिति से उबरने में भी मदद की है, जब मैं किसी से मिलते ही इम्प्रेस होकर उसके साथ शादी के सपने सजाने लगती थी। क्या मैं क्रेजी हूं? शायद हां।
अच्छा होने का खामियाजा

किन मेरी बेस्ट फ्रेंड को मुझमें बस अच्छाई ही नजर आती है। उसे लगता है कि मैं एक मासूम और बड़े दिल वाली शख्स हूं, जिसे सभी में अच्छाई नजर आती है। पर पता है अच्छा होने का सबसे बड़ा नुकसान क्या है? ये कि आप अपनी लाइफ का पूरा कंट्रोल दूसरों के हाथों में रख देते हैं। ऐसे में लोग आपको उस तरह ट्रीट करते हैं जिस तरह वे करना चाहते हैं ना कि उस तरह जिस तरह आप चाहते हैं। जब आप किसी को खुद की जिंदगी कंट्रोल करने के लिए देते हैं तो वह जैसे मर्जी आपके साथ बर्ताव करता है, जैसे उसका मन करता है वैसे ही बात करता है। वहीं आप सिर्फ ये सब झेलते रह जाते हैं।

बेस्ट फ्रेंड से होती थी बहस
मेरे सभी रिश्ते ऐसी ही रहे, बिल्कुल एकतरफा। जहां मैं अपना प्यार, सपोर्ट, केयर अटेंशन सब देती रही और बदले में वह मुझ पर ही हावी होते गए। ऐसा नहीं था कि ये सिर्फ एक बार हुआ हो। मैं हर बार किसी रिश्ते में आती और हर बार मेरा पार्टनर मेरे साथ वही सब करता जो पहले वाले ने किया था। क्या आप सोच रहे हैं कि इस दौरान मेरी दोस्त क्या करती थी? तो मैं बता दूं कि इस स्थिति में उसकी ज्यादा चल नहीं पाती थी।वह जब भी मुझे सलाह देती थी कि मुझे किसके साथ रिश्ते में जाना चाहिए या मुझे कैसा बर्ताव सहना नहीं चाहिए, तो मेरी उससे बहस हो जाती थी। मैं रिलेशनशिप में आने के बाद हमेशा उसे दूर कर देती थी और अपने पार्टनर पर ही पूरा फोकस लगा देती थी। लेकिन क्या आपको पता है कि मेरा दिल टूटने पर हमेशा कौन मेरे साथ होता था? मेरी बेस्ट फ्रेंड।
सात साल में बात आई समझ में

मुझे यह समझने में ही 7 साल का वक्त लगा कि असल में मैं ही गलत लोगों में अपनी सोलमेट को ढूंढ रही थी। बीते सात साल में मेरा ध्यान सिर्फ रोमांस पर था जो कि भविष्य में भी जारी रह सकता था। लेकिन मैं इस बात को अब समझ चुकी हूं कि मेरी बेस्ट फ्रेंड ही मेरी सोल मेट है। वह मेरे साथ हर वक्त रही है, तब जब मेरा ब्रेकअप हुआ था या तब जब मैं जिंदगी के बुरे दौर से गुजर रही थी और तब भी जब मैं खुद को ही किसी लायक नहीं समझती थी।मुझे थोड़ा समय लगा यह समझने में कि मेरी दोस्त मेरी जिंदगी में यूं ही नहीं आई है। वह मेरी जिंदगी में मुझे सीख देने, मेरे साथ बड़े होने, हकीकत में मुस्कुराने का मतलब समझाने और बुरे पलों को पीछे छोड़ खुलकर जीना सिखाने के लिए मेरी जिंदगी का हिस्सा बनी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

voter card

वाेटर कार्ड तो छीन लिया, फिर भी डाला वोट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कहते हैं जहां चाह वहां राह। कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है कसबा में जहां एक व्यक्ति का वोटर कार्ड छीन आगे पढ़ें »

डूबे हुये धन की प्राप्ति के उपाय अपनाइए और जीवन सुखी बनाइए

कोलकाता : विश्वास एक ऐसी चीज है, जिसे करे बिना काम नहीं चल सकता। लेकिन जब विश्वास टूटता है तो व्यक्ति गहरे सदमें में चला आगे पढ़ें »

ऊपर