तिहरे हत्याकांड में मुखिया समेत 22 लोगों को आजीवन कारावास

jail

लोहरदगा : तिहरे हत्याकांड मामले में गुरुवार को लोहरदगा जिले की सत्र अदालत ने 22 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोपाल पांडेय ने यहां मामले में सुनवाई के बाद गोवर्द्धन भगत, उसकी पत्नी मादो भगत और पुत्रवधू सुखमतिया भगत की जलाकर हत्या करने के आरोप में गुरी पंचायत के मुखिया राम उरांव,वीरू उरांव,सोमनाथ उरांव, पारस साहू, देशी मुन्ना साहू, दिवाकर साहू, माइकल खाखा, प्रवीण मिंज,रामपूजन साहू,जीवन मिंज, धुरी उरांव, मुक्ति खाखा, इरफान तिर्की,नोबेल तिर्की, मीराज खाखा, इतवा पाहन, अमन कुजूर, संदीप उरांव,झरिया भगत,विजय यादव,मुन्ना उरांव और राम कुमार उरांव को यह सजा सुनायी है।

डायन होने का आरोप लगाकर घर को आग लगा दी थी

आरोप के अनुसार दोषियों ने 17 अप्रैल 2016 को जिले के कैरी थाना क्षेत्र के चिपोगढ़ टोली निवासी गोवर्द्धन भगत पर झाड़फूंक करने और उसकी पत्नी पर डायन होने का आरोप लगाकर उसके घर आग लगा दी थी जिसमें गोवर्द्धन भगत, मादो भगत और सुखमतिया भगत की जलकर मौत हो गयी थी जबकि गोवर्द्धन भगत का पुत्र लालदेव भगत गंभीर रूप से झुलस गया था। इस सिलसिले में गोवर्द्धन भगत के भतीजा राजेश भगत ने संबंधित थाना में 25 नामजद और 500 अज्ञात लोगों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आए 368 नये संक्रमण के मामले, 10 लोगों की आज फिर हुई मौत

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 368 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान 10 लोगों की संक्रमण आगे पढ़ें »

कुलपति परिषद ने राज्यपाल धनखड़ के पत्र पर जताई आपत्ति

कोलकाता : पश्चिम बंगाल कुलपति परिषद ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को लिखे गए उस पत्र पर आपत्ति जताई जिसमें आगे पढ़ें »

ऊपर