आज भाद्रपद का अंतिम गुरुवार, घर में सुख-समृद्धि के लिए करें ये काम

कोलकाता : भाद्रपद मास का आज यानी 16 सितंबर को अंतिम गुरुवार है। इसके कुछ दिन बाद पूर्णिमा तिथि को भाद्रपद मास खत्म हो जाएगा और इसके बाद आश्विन मास का प्रारंभ हो जाएगा। साथ ही आश्विन मास की प्रतिपदा तिथि से श्राद्ध पक्ष का भी आरंभ हो जाएगा। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, बृहस्पतिवार या गुरुवार भगवान विष्णु को समर्पित होता है और वहीं ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति देव को सभी ग्रहों के गुरु का दर्जा प्राप्त है। इसलिए इस दिन का काफी महत्व बढ़ जाता है और साथ में यह भाद्रपद मास का अंतिम गुरुवार है। जीवन में आने वाली सभी बाधाओं से मुक्ति और घर में सुख-समृद्धि के लिए शास्त्रों में कुछ उपाय बताए गए हैं। इन उपाय को भाद्रपद मास के अंतिम गुरुवार को करने से जीवन में हमेशा धन-धान्य बना रहता है और भाग्य का भी साथ मिलता है…
इस उपाय से जीवन में मिलती है तरक्की
विवाह संबंधी समस्याओं से मुक्ति के लिए गुरुवार के दिन देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा करें और गुरु से संबंधित चीजों का दान करें। साथ ही पीले वस्त्र पहनकर केले के पौधे की पूजा करके पीले फूल अर्पित करें और चने की दाल और गुड़ चढ़ाएं। ऐसा करने से न केवल विवाह की परेशानी दूर होगी बल्कि जीवन में तरक्की के मार्ग भी खुलते हैं।
रुके हुए कार्यों में आती है तेजी
धन संबंधित समस्याओं से मुक्ति के लिए गुरुवार के दिन धन का लेन-देन करने से बचें और गुरुवार का व्रत रखें, जिसमें अन्न व नमक का सेवन न करें। ध्यान रहे कि फलाहार में केले का सेवन न करें। ऐसा करने से आर्थिक समस्याओं से मुक्ति मिलती है और रुके हुए कार्यों में भी तेजी आती है।
करियर में बनते हैं तरक्की के योग
नौकरी व व्यवसाय में तरक्की के लिए गुरुवार के दिन भगवान विष्णु के साथ बृहस्पति देव की भी पूजा करें। पूजा में विष्णु सहस्त्रनाम और भगवान बृहस्पति की कथा का पाठ करें। ध्यान रहे कि कथा पढ़ने से पहले किताब पर पीले फूल चढ़ाएं और धूप-दीप दिखाएं। ऐसा करने से सभी आर्थिक संकटों से मुक्ति मिलती है और करियर में तरक्की के योग बनते हैं।
भाग्य भी देता है इस उपाय से साथ
कार्यों में सफलता प्राप्ति के लिए घर से बाहर निकलते समय केसर या हल्दी का तिलक लगाएं और पीले रंग का रुमाल हमेशा अपने पास रखें। साथ ही घर से निकलते वक्त माता-पिता और गुरुजनों का आशीर्वाद लें। ऐसा करने से आपके सभी कार्य सफल होंगे और भाग्योदय भी होगा।
परिवार में बनी रहती है सुख-शांति
परिवार में सुख-शांति और समृद्धि के लिए गुरुवार के दिन पीले रंग के वस्त्र का उपयोग करें और सुबह के समय चने की दाल में थोड़ा सा गुड़ मिलाकर उसको अपने घर के मुख्य द्वार पर रख दें। साथ ही सायंकाल के समय भगवान विष्णु के मंदिर में जाकर चना दाल और केसर अर्पित करें। ऐसा करने से जीवन सुखमय व्यतीत होगा और परिवार के सदस्यों की तरक्की भी होती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः फिर उबला भाटपाड़ा, समाज विरोधियाें ने लहराये हथियार, घायल किये लोगों को

भाटपाड़ा : भाटपाड़ा एक बार फिर उबला। यहां समाजविरोधियों ने हथियार लहराते हुए लोगों को घायल कर दिया। भाटपाड़ा थाना अंतर्गत मद्राल नेताजी मोड़ इलाके आगे पढ़ें »

ऊपर