गाल पर तिल वाले होते हैं ऐसे…

नई दिल्ली : ज्योतिष शास्त्र के माध्यम से भविष्य के बारे में काफी कुछ जाना जा सकता है। सामुद्रिक शास्त्र में शरीर के चिन्हों या लक्षणों के आधार पर व्यक्ति के बारे में काफी कुछ बताया गया है। इसी तरह व्यक्ति के शरीर पर पाए जाने वाले तिलों के माध्यम से भी भविष्य के बारे में काफी कुछ जाना जा सकता है। 

सामुद्रिक शास्त्र में बताया गया है कि शरीर के चिन्हों का आपके स्वभाव और भविष्य पर क्या प्रभाव होता है और जीवन में कौन सी चीजें आपको प्रभावित कर सकती हैं। इन चन्हों में तिल, मस्से और अन्य विशेष आकृतियां भी पाई जाती हैं। तिलों के माध्यम से व्यक्ति के अच्छे और बुरे हर तरह के स्वभाव को समझा और जाना जा सकता है।

चेहरे पर तिल होने के अलग-अलग अर्थ होते हैं। चेहरे पर पाए जाने वाले तिलों का सीधा संबंध आपके भाग्य से होता है। अगर आपके गालों पर तिल है तो ये आपकी आकर्षण क्षमता को मजबूत करता है। ऐसे लोग आकर्षक होने के साथ बहुत ही धनवान होते हैं।

नाक पर तिल का होना व्यक्ति को बहुत ही अनुशासित बना देता है लेकिन इसकी वजह से आपके जीवन में संघर्ष बढ़ता चला जाता है। होंठ के ऊपर तिल वाला व्यक्ति लोगों में काफी लोकप्रिय होता है। हालांकि ऐसे लोग चुनिंदा लोगों को ही अपना मानते हैं जिन लोगों के नाक के नीचे तिल होता है, ऐसे लोग कम लोगों के साथ घुलना-मिलना पसंद करते हैं। 

माथे पर तिल का होना बताता है कि शुरुआत में संघर्ष करने के बाद आप धनवान हो सकते हैं। होंठों पर तिल होने का अर्थ है कि व्यक्ति बहुत ज्यादा प्रेमी स्वभाव का है। ऐसे लोगों के एक से ज्यादा लोगों के साथ प्रेम संबंध होते हैं।

हाथ में अगर बीचोंबीच तिल हो जो किसी पर्वत पर ना हो तो ये संपन्नता देता है। अगर पर्वत पर या उंगलियों पर तिल है तो ये दुर्भाग्य का कारण बनता है। तिल जिस पर्वत पर होता है उस पर्वत को खराब करता है और जिस उंगली पर होता है उस ग्रह को कमजोर करता है। इसके अलावा, हथेलियों के पीछे की तरफ तिल वाले व्यक्ति बहुत आलसी किस्म के होते हैं।

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राज्य में आज भी हो सकती है भारी बारिश

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता: मौसम विभाग की ओर से बताया गया है कि आज यानी शुक्रवार को भी दक्षिण बंगाल के कई हिस्सों में भारी बारिश की आगे पढ़ें »

ऊपर