सिस्टम ने मार डालाः जिंदा होने का सबूत देने कचहरी आए बुजुर्ग की मौत

संतकबीर नगरः यूपी के संतकबीर नगर में खुद को जिंदा साबित करने कचहरी पहुंचे 70 साल के बुजुर्ग ने सरकारी अफसरों के सामने दम तोड़ दिया। खेलई नाम के ये बुजुर्ग पिछले 6 साल से कागजों में दर्ज अपनी मौत के खिलाफ लड़ रहे रहे थे। इस लड़ाई के अंतिम चरण में उन्हें अफसरों के सामने पेश होकर खुद को जिंदा साबित करना था। खेलई अधिकारियों के सामने पेश तो हुए, लेकिन अपनी बात नहीं रख पाए। यानी कागजों में मार दिए गए खेलई सरकारी अधिकारियों के सामने दुनिया छोड़ गए। साल 2016 में उनके बड़े भाई फेरई की मौत हुई थी, लेकिन उनकी जगह कागजों में छोटे भाई खेलई को मरा हुआ दिखा दिया गया। खेलई की जिंदगी के साथ खिलवाड़ की कहानी 6 साल पहले शुरू होती है। धनघटा तहसील क्षेत्र के कोड़रा गांव में रहने वाले 90 साल के फेरई की साल 2016 में मौत हो गई थी। सरकारी लेखपाल समेत तहसील कर्मियों ने फेरई की जगह उनके छोटे भाई खेलई को मृत दिखा दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

​बिल नहीं भरा तो अस्पताल ने शव देने से किया मना

हुगली : चंदननगर के एक नर्सिंग होम में इलाजरत मरीज की मौत के बाद बिल के भुगतान को लेकर मामला इतना गरमाया कि अस्पताल प्रबंधन आगे पढ़ें »

गुजरात के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न का माहौल है। गुरुवार को सुबह से ही मुरलीधर सेन लेन स्थित आगे पढ़ें »

ऊपर