सावन के सोमवार व्रत में इन बातों का रखें खास ध्यान, भूलकर भी न खाएं ये चीजें

कोलकाता : हिंदू कैलेंडर के अनुसार पांचवा महीना भगवान शिव को समर्पित है। सावन में भगवान शिव की पूजा-अराधना से विशेष फल की प्राप्ति होती है। सावन के पूरे महीने मंदिरों में विशेष पूजा अनुष्ठानों का आयोजन किया जाता है। इस बार सावन माह की शुरुआत 14 जुलाई से हो रही है और 11 अगस्त तक रहेगी। सावन में पहला सोमवार का व्रत 18 जुलाई को है। सावन के सोमवार का भी विशेष महत्व है। इस दिन शिव जी की विधिपूर्वक पूजा करने और व्रत करने से भोलेशंकर की कृपा प्राप्त होती है और जीवन के सभी कष्टों से छुटकारा मिलता है।
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन के सोमवार का व्रत महिलाओं और कन्याओं के लिए खास महत्वपूर्ण बताया गया है। मान्यता है कि सावन के सोमवार का व्रत कुंवारी कन्याएं मनचाहे वर की प्राप्ति के लिए रखती हैं। वहीं, सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए ये व्रत रखती हैं। सावन के सोमवार के व्रत रखने से पहले इसके कुछ खास नियमों को जान लेना बेहद जरूरी है। अगर इन नियमों का पालन न किया जाए, तो व्रत का पूरा फल नहीं मिलता। इस दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं जानें।
सावन के सोमवार व्रत में क्या खाएं
सावन के सोमवार व्रत के दौरान सात्विक भोजन ही करें। सादे नमक की जगह इस दिन सेंधा नमक ही खाएं। सावन में मौसमी फलों का सेवन करना चाहिए। इस व्रत में फलाहार में अंगूर, सेब, आडू, केला और अनार आदि को शामिल किया जा सकता है। इसके अलावा साबूदाना खिचड़ी और डेयरी उत्पाद जैसे पनीर, दूध, दही, छाछ आदि का सेवन किया जा सकता है। व्रत के दौरान इस सब चीजों का सेवन करने से व्यक्ति का स्वास्थ्य ठीक रहता है।
व्रत में भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन
सावन के सोमवार व्रत में अन्न का सेवन नहीं किया जाता। धार्मिक मान्यता है कि सोमवार के व्रत में मैदा, आटा, बेसन, सत्तू आदि इन चीजों का सेवन न करें। इसके अलावा मांस, मदिरा, प्याज, लहसुन और मसाले जैसे लाल मिर्च, धनिया पाउडर, सादा नमक आदि का सेवन भी भूलकर न करें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर