बस लाइफस्टाइल में करें ये बदलाव दूर भाग जायेगा स्ट्रेस

कोलकाताः आज अमूमन हर कोई कहीं न कहीं स्ट्रेस में डूबा रहता है। वजह कुछ भी हो सकती है, लेकिन इसका इलाज न किया जाए, तो डिप्रेशन तक की सिचुएशन बन सकती है। कई बार कुछ लोगों स्ट्रेस को फेस कर रहे होते हैं और उन्हें इसका अंदाजा भी नहीं होता। काम का प्रेशर, परिवार की समस्याएं और जिम्मेदारियों के बोझ में लोग इस कदर फंसे होते हैं कि वे इसकी वजह से स्ट्रेस का शिकार बन जाते हैं। ये एक तरह की दिमागी बीमारी है, जिसका लेवल अगर बढ़ जाए, तो इलाज में दवा तक खानी पड़ती है। मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट्स तो रोजाना एक्सरसाइज करने तक की सलाह देते हैं।

वैसै दवा और एक्सराइज के अलावा लाइफस्टाइल में इन बदलावों को करके भी इस मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम को दूर किया जा सकता है। जानें वो तरीके जिन्हें आपको लाइफस्टाइल में बदवाल की तरह अपनाना चाहिए।
मेंटल हेल्थ थैरेपी के दौरान भी ये सलाह दी जाती है कि खुद के लिए समय निकाले और खुद से प्यार करना शुरू करें। एक्सपर्ट कहते हैं वो तरीके अपनाएं, जो खुद को खुशी देते हो। अगर आप किताब को पढ़ना पसंद करते हैं, तो इस एक्टिविटी को दिन में एक बार जरूर करें। इसके अलावा घूमने से सुकून मिलता है, तो हफ्ते में एक बार घूमने जरूर जाएं।
किन्हीं कारणों से नींद नहीं ले पाते हैं और ये तरीका आदत बना हुआ है, तो इस स्थिति में आप स्ट्रेस का शिकार बन हो सकते हैं। मानसिक स्वास्थ्य को दुरुस्त बनाने के लिए कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए। रात में पूरी नींद लेने से दिनभर फ्रेश महसूस करने में मदद मिलती है।  अक्सर हम भीड़ में मौजूद होने के बावजूद अकेले होते हैं। मानसिक रूप से अकेलापन बहुत बीमार कर सकता है और इसका सबसे पहला लक्षण स्ट्रेस है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्यपाल को लेकर भाजपा ने दी गृह मंत्रालय को रिपोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गत नवम्बर महीने में पश्चिम बंगाल के स्थायी राज्यपाल बने डॉ. सी. वी. आनंदा बोस के बारे में भा​जपा नेताओं ने सोचा आगे पढ़ें »

सागरदिघी उपचुनाव के लिए हुआ कांग्रेस और वाम का समझौता

सागरदिघी उपचुनाव के लिए हुआ कांग्रेस और वाम का समझौता सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 2021 के विधानसभा चुनाव के बाद उपचुनावों में भी वाम-कांग्रेस का समझौता आगे पढ़ें »

ऊपर