भारत की ‘परमाणु हथियार पहले न इस्तेमाल’ करने की नीति बदल सकती है- राजनाथ सिंह

rajnath

नई दिल्ली : परमाणु आयुद्ध को लेकर अब तक हमारी नीति ‘पहले इस्तेमाल न करने’ की रही है,लेकिन पाकिस्तान के साथ दिन पर दिन तनाव बढ़ता जा रहा है जिसको लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को पोखरण में इस ओर इशारा करते हुए कहा कि भारत द्वारा परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल न करने से जुड़ी अपनी नीति को बदला जा सकता है। दरअसल कश्मीर पर दुनिया का कोई भी देश पाकिस्तान का साथ नहीं दे रहा है जिस कारण उसकी बौखलाहट बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि इस नीति को लेकर भ‌विष्य में क्या किया जाएगा उसे वक्त और हालात पर छोड़ दिया गया है।

वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि

बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर रक्षा मंत्री ने यह बयान पोखरण में ‌दिया। यह वही जगह है जहां तत्कालीन प्रधानमंत्री वाजपेयी के नेतृत्व में 1998 में 5 न्यूक्लियर टेस्ट किए गए थे। वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा, ”ये एक संयोग है कि आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि है और मैं जैसलमेर में हूं। ऐसे में लगा कि मुझे उन्हें पोखरण की धरती से ही श्रद्धांजलि देनी चाहिए।”

नूक्लियर हथियार पहले न इस्तेमाल करना

भारत ने नूक्लियर हथियार आगे बढ़ कर पहले न इस्तेमाल करने की पॉलिसी 1998 में पोखरण-2 के बाद अपनाई थी। इसी परम्परा को ‌निभाते हुए साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि भारत किसी भी दुश्मन के खिलाफ आगे बढ़कर न्यूक्लिर हथियार का इस्तेमाल नहीं करेगा। हाल के दिनों में परमाणु सुरक्षा प्रतिष्ठान के कई रिटायर्ड सदस्यों ने भारत के नो फर्स्ट यूज पॉलिसी (एनएफयू) पर सवाल उठाए हैं। गौरतलब है कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी साल 2016 में एनएफयू की जरूरत पर सवाल उठाए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर