स्वाद ही नहीं ये 9 मसाले आपकी लाइफ को भी चमका देंगे

कोलकाताः क्या आप जानते हैं कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, खाने में प्रयोग किए जाने वाले मसाले ना सिर्फ स्वाद बढ़ाते हैं बल्कि इनका हमारे जीवन पर काफी प्रभाव पड़ता है। क्योंकि यह मसाले हमारे ग्रह-नक्षत्रों को भी प्रभावित करते हैं। दरअसल माना जाता है कि जितने भी तत्व पृथ्वी पर पाए जाते हैं और उन तत्वों से जो भी चीज बनती हैं, उनका संबंध ग्रह-नक्षत्र से जरूर होता है और इन्हीं के इर्दगिर्द हमारे जीवन का तानाबाना बुना जाता है।
तो आइए जानते हैं कि कौन सा मसाला, आपके जीवन में कहां प्रभाव डालता है और किस ग्रह को प्रभावित करके आपको लाभ या नुकसान पहुंचाता है…
1 . नमक-
नमक खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण चीज है। ज्योतिष में नमक का संबंध सूर्य से माना जाता है। माना जाता है कि यदि नमक आप जल में मिलाकर सूर्य को देते हैं, तो यह आपको कर्ज से मुक्ति का रास्ता निकालता है। तो वहीं इसका सेवन कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत करता है और उसके अशुभ प्रभाव को दूर करने का काम करता है।
2 . लाल मिर्च
इसका नवग्रहों के देवसेनापति मंगल ग्रह से संबंधित है। जिनकी कुंडली में मंगल की स्थिति सही नहीं है तो उनको लाल मिर्च का दान करना चाहिए। मंगल जातक को साहसी बनाता है और इसके शुभ प्रभाव से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है। इसका प्रभाव पारिवारिक जीवन पर भी पड़ता है। वहीं कुंडली में अगर मंगल सही नहीं है तो त्वचा संबंधित कई रोग हो सकते हैं। लाल मिर्च कुंडली में मंगल की स्थिति को मजबूत करता है।
3 . हल्दी
यह कई मायनों में गुणकारी होती है। हल्दी बृहस्पति ग्रह से संबंधित होती है और इसके सेवन से कुंडली में बृहस्पति की स्थिति मजबूत होती है। हल्दी का संबंध बृहस्पति ग्रह से है इसलिए इसके सेवन से व्यक्ति भाग्यशाली होता है और कई क्षेत्रों में लाभ प्राप्त करता है। हल्दी के उपाय करने से बृहस्पति ग्रह कुंडली में मजबूत होते हैं। वहीं कुंडली में अगर बृहस्पति ग्रह की स्थिति सही नहीं है तो जीवन में कई असफलताओं का सामना करना पड़ता है।
4 . जीरा
ये मसाला राहु-केतु का प्रतिनिधित्व करता हैं। जीरा का निरंतर सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। राहु-केतु के शुभ फल की प्राप्ति के लिए मंगलवार के दिन दही में जीरा डालकर प्रयोग करें तो जीवन में सुख-शांति के साथ समृद्धि भी प्राप्त होती है। साथ ही भाग्य भी साथ देता है।
5 . धनिया
धनिया का सम्बन्ध ग्रहों के राजकुमार बुध से होता है। धनिया के उपाय करने से कुंडली में बुध की स्थिति मजबूत होती है और घर में बरकत का रास्ता खुलता है। बुध की मजबूत स्थिति से व्यक्ति बौद्धिक रूप से धनी और कुशल वक्ता बनाता है। साथ ही धन के मामले में भी बुध का साथ मिलता है। वहीं इसके अशुभ प्रभाव से जीवन में दरिद्रता आती है और कारोबार में हानि का सामना करना पड़ता है। साथ ही मानसिक रूप से परेशानी आती है।
6 . काली मिर्च
इसका सम्बन्ध शनि ग्रह से होता हैं और इसके सेवन से कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत होती है। अगर शनि अशुभ प्रभाव दे रहा है तो काली मिर्च के उपाय करने चाहिए। शनि ग्रह व्यक्ति को धैर्यवान और साहसी बनाता है। साथ ही जीवन में स्थिरता बनी रहती है और कार्यक्षेत्र में सफलता मिलती है। वहीं शनि जब अशुभ प्रभाव देता है तो जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है और व्यक्ति की जिंदगी कारावास जैसी हो जाती है।
7 . पिसा हुआ आमचूर
इसका संबंध केतु ग्रह से है। केतु केवल अशुभ प्रभाव नहीं देता बल्कि शुभ प्रभावों के लिए केतु को जाना जाता है। कुंडली में अगर केतु शुभ स्थान पर हो तो वह रंक को राजा बना देता है और हर क्षेत्र में सफलता देता है और समस्याओं से मुक्ति दिलाता है। वहीं अशुभ केतु का प्रभाव जीवन में कई समस्याएं लाता है। हर कार्य में बाधा आती है और कालसर्प दोष निर्माण करता है। केतु के अशुभ प्रभाव से मुक्ति के लिए आमचूर का प्रयोग काफी लाभदायक सिद्ध होता है।
8 . पिसा हुआ गर्म मसाला
यह राहु का प्रतिनिधित्व करता है। गर्म मसाला जिस तरह खाने का स्वाद बढ़ाता है, उसी तरह कुंडली में राहु का शुभ प्रभाव जीवन में हर खुशी देता है। वह साहस प्रदान करता है और धन मार्ग प्रशस्त करता है। जिस तरह ज्यादा गर्म मसाला खाने को खराब कर देता है, उसी तरह अशुभ राहु के प्रभाव से कोई न कोई बाधा आती रहती है। साथ ही असफलताओं का सामना करना पड़ता है। राहु के शुभ प्रभाव के लिए गर्म मसाला का उपाय जीवन में समृद्धि लाता है।
9 . मेथी
मेथी का सम्बन्ध मंगल ग्रह से होता है। मंगल के शुभ प्रभाव से व्यक्ति किसी के आगे नहीं झुकता और अपनी बात को सही सिद्ध करता है। परिवार में सुख-शांति बनी रहती है और सभी सदस्यों के साथ संबंध मुधर रहते हैं। साथ ही जिस क्षेत्र में अपना योगदान करता है, वहां सफलता मिलती है। कुंडली में मंगल की अशुभ स्थिति से जमीन, परिवार, कर्ज जैसी आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है। साथ ही स्वास्थ्य के मामले में कोई न कोई परेशानी बनी रहती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कमिंस-रसेल के अर्धशतक बेकार, केकेआर की लगातार तीसरी हार

कोलकाता को 18 रन से हरा चेन्नई ने लगाई जीत की हैट्रिक मुंबई : आईपीएल 2021 के 15वें मैच चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने कोलकाता नाइट आगे पढ़ें »

कोरोना से मरीज त्रस्त, नर्सिंग होम्स बिल बनाने में व्यस्त

दक्षिण कोलकाता के नर्सिंग होम पैकेज पर ले रहे हैं कोरोना मरीजों को कोलकाता : कोरोना के कारण राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था ​अब धीरे-धीरे चरमरा रही आगे पढ़ें »

ऊपर