भारतीय सेना ने जवानों के लिए जारी की एडवाइजरी, व्हाट्सएप में तुरंत करें यह सेटिंग

whatsapp

नई दिल्‍ली : भारतीय सेना ने अपने जवानों के लिए व्हाट्सएप से संबंधित एक दिशानिर्देश जारी की है। इस ‌दिशानिर्देश में जवानों को कहा गया है कि वे तुरंत अपने व्हाट्सएप अकाउंट की सेटिग्स को बदलें ताकि उन्हें कोई पाकिस्तानी जासूस किसी ग्रुप में ना जोड़ सके। मालूम हो कि हाल ही में भारतीय सेना के एक जवान का व्हाट्सएप नंबर पाकिस्तान से संबंधित एक व्हाट्सएप ग्रुप में बिना इजाजत जोड़ा गया था। उसके बाद सेना ने यह फैसला लिया है।

इस तरह करनी होगी सेटिंग

बता दें कि व्हाट्सएप में नए अपडेट के बाद यदि आप चाहते हैं कि कोई भी ग्रुप एडमिन आपकी इजाजत के बिना आपको किसी ग्रुप में ऐड ना करे तो इसके लिए आपको कुछ सेटिंग करनी होगी। सबसे पहले अपने व्हाट्सऐप एप को अपडेट करें। इसके बाद एप को ओपन करें और इस स्टेप को फॉलो करें। अकाउंट – प्राइवेसी – ग्रुप्स, इसके बाद आपको तीन विकल्म मिलेंगे जिनमें नोबोडी, माय कॉन्टैक्टस और एवरीवन शामिल हैं। इनमें से यदि आप नोबॉडी के विकल्प का चयन करते हैं तो फिर आपको कोई भी किसी ग्रुप में ऐड नहीं कर पाएगा। यदि आप चाहते हैं सिर्फ वही लोग आपको ग्रुप में ऐड करें जो आपको कॉन्टेक्ट लिस्ट में हैं तो आपको माय कान्टैक्टस का विकल्प चुनना होगा।

भारतीय खुफिया एजेंसी ने दी थी सतर्क रहने की हिदायत

गौरतलब है कि इसी साल जुलाई में भारतीय खुफिया एजेंसी ने भारतीय सैन्य अधिकारियों और उनके परिवार को किसी भी संदिग्ध व्हाट्सएप ग्रुप से सतर्क रहने की हिदायत दी थी। खुफिया एजेंसी की सलाह पर सेना ने अपने सैन्य अधिकारियों को इसका खास ख्याल रखने की सलाह दी है। सेना का कहना था कि अधिकारी निजता और गोपनीयता उजागर होने से बचें और किसी भी ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप का हिस्सा न बनें जो उनकी विश्वसनीयता खतरे में डाल दे या सेना से संबंधित सूचना लीक हो।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टेस्ट व वनडे डेब्यू में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने आबिद, पाक- श्रीलंका मैच ड्रा

रावलपिंडी : पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच बारिश से प्रभावित पहला टेस्ट क्रिकेट मैच रविवार को यहां अनिर्णीत समाप्त हुआ जिसका आकर्षण आबिद अली का आगे पढ़ें »

पूर्व क्रिकेटर प्रवीण कुमार पर पड़ोसी से मारपीट का आरोप

मेरठ : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी प्रवीण कुमार पर टीपीनगर थाना क्षेत्र के मुल्ताननगर में एक फैक्ट्री मालिक के साथ मारपीट करने का आगे पढ़ें »

ऊपर