भतीजे की बाइक रोकी तो महिला विधायक ने हेड कांस्टेबल को मारा थप्पड़

राजस्थान : राजस्थान में एक स्वतंत्र विधायक पर हेड कांस्टेबल को कथित तौर पर थप्पड़ मारने का आरोप लगा है और पुलिस ने महिला विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। ऐसा बताया जा रहा है हेड कांस्टेबल महेंद्र ने महिला विधायक के भतीजे की बाइक रोककर उसका चालान काट दिया था। इसके बाद महिला विधायक ने हेड कांस्टेबल को थप्पड़ दिया। बता दें कि ये मामला राजस्थान के बांसवाड़ा जिले का है।
महिला विधायक के खिलाफ मामला दर्ज
इसके बाद हेड कांस्टेबल महेंद्र नाथ सिंह ने महिला केे खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। इसके बाद हेड कांस्टेबल महेंद्र ने बताया कि बाइक पर सवाल सुनील बारिया को नाकेबंदी के दौरान पुलिस ने रोका था। उन्होंने बताया कि हर जगह कोरोना की वजह से नाकेबंदी चल रही है और हर किसी से पूछताछ की जा रही है।
गुस्से में भतीजे ने महिला विधायक को दी जानकारी
इसके बाद सुनील गुस्से में आ गया और कॉलर पकड़कर नौकरी से निकलवाने की धमकी देने लगा। इसके बाद हेड कांस्टेबल ने सुनील का चालान काट दिया, जिसके बाद सुनील ने महिला विधायक को फोन कर सारी जानकारी दी। थोड़ी ही देर बाद महिला विधायक वहां पहुंची और गुस्से में हेड कांस्टेबल को थप्पड़ मार दिया।
हेड कांस्टेबल के खिलाफ भी मामला दर्ज
वहीं महिला विधायक रमिया खरिया का कहना है कि मुझ पर लगाए गए आरोप झूठे हैं। उन्होंने कहा कि हेड कांस्टेबल प्रतिबंधों के नाम पर लोगों को परेशान कर रहा है और उनके पैसे वसूल रहा है। बता दें कि महिला विधायक के साथ-साथ महेंद्र नाथ सिंह के खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया गया है। इधर गुलाब सी कटारिया ने महिला विधायक के व्यवहार की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ये हेड कांस्टेबल की ड्यूटी है को नाकेबंदी के पास लोगों से पूछताछ करें। रमिला के भतीजे ने हेड कांस्टेबल के साथ बदतमीजी की लेकिन महिला विधायक की प्रतिक्रिया को स्वीकार नहीं किया जा सकता। किसी को भी ऐसे थप्पड़ मारने का अधिकार नहीं है। ऐसा करने से पुलिसकर्मियों का मनोबल टूटता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज शुक्रवार को पहने इस रंग के कपड़े, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा, होंगे धनवान

कोलकाता : हिंदू धर्म शास्त्रों में सप्ताह का सातों दिन किसी न किसी देवता को समर्पित होता है तथा उनका कोई न कोई प्रिय रंग आगे पढ़ें »

ऊपर