बलिया में संवेदनहीनता की हदें पार…

बलियाः कोरोना की दूसरी लहर में गंगा नदी में लाशें बह रही थीं, तो किनारों पर रेत में न जाने कितने शव दफन थे। उत्तर प्रदेश के कई शहरों से ऐसी तस्वीरें सामने आई थीं। कई जिलों में लाशें गंगा में बहाने का खुलासा होने के बाद यूपी सरकार ने गंगा किनारे के जिलों में सख्ती काफी बढ़ा दी थी। गंगा के घाटों पर पुलिस भी तैनात कर दी गई थी। सरकारी सख्ती के बावजदू अभी भी गंगा में लाशें बहकर आ रही हैं। प्रशासन जैसे-तैसे उन्हें निपटाने में जुटा हुआ है। ऐसा ही एक मामला बलिया में सामने आया, जहां पुलिसकर्मियों ने लाश को गंगा से निकालकर उस पर पेट्रोल छिड़का और फिर चिता पर टायर रखकर आग लगा दी।

सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने पर कार्रवाई
जानकारी के अनुसार, बलिया के माल्देहपुर में पुलिस कर्मियों ने गंगा में बहती लाश को निकाल कर चिता पर लकड़ी के साथ-साथ टायर भी रख दिए। एसपी विपिन टाडा ने बताया कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें पुलिसकर्मी पेट्रोल और टायरों से शव जला रहे हैं। इस मामले में वहां तैनात 5 पुलिसकर्मियों को संवेदनहीनता के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कमरहट्टी के 3 वार्ड कंटेनमेंट जोन घोषित

लोगों को किया गया कोरोना को लेकर विशेष तौर पर सचेत कमरहट्टी : जिस वार्ड या फिर इलाके में कोरोना के 4 मरीज हैं उन इलाकों आगे पढ़ें »

ममता, मलय का मामला सुनने से जस्टिस बोस का इनकार

अब चीफ जस्टिस इस सौंपेंगे नये बेंच को सन्मार्ग संवाददाता नयी दिल्ली/कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कानून मंत्री मलय घटक की तरफ से दायर एसएलपी पर आगे पढ़ें »

ऊपर