शनि की साढ़ेसाती झेल रहे हैं तो इन उपायों से शनि को करें प्रसन्‍न

कोलकाता : शनि को सबसे क्रूर ग्रह की संज्ञा दी गई है और जब किसी राशि में साढ़ेसाती की स्थिति में शनि होते हैं तो बेहद अशुभ प्रभाव देते हैं। इसके अलावा शनि की ढैय्या होती है जो कि किसी भी जातक के ऊपर ढाई साल तक रहती है। शनि की ढैय्या होने पर भी जातकों को काफी मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ता है। शनि की दशा में व्‍यक्ति झूठे मुकदमों फंस जाता है। फालतू खर्च बहुत ज्‍यादा होता है और बुरी लत लग जाती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि क्‍या होती है शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या और क्‍या हैं इनके अशुभ प्रभाव दूर करने के टोटके…
क्‍या होती है साढ़ेसाती और ढैय्या
शनि को बेहद मंद गति से चलने वाला ग्रह माना गया है। शनि एक राशि में करीब ढाई साल तक रहते हैं। शनि जिस राशि में रहते हैं उस राशि के पहले वाली एक राशि और बाद वाली एक राशि पर उनका प्रभाव होता है। इस स्थिति को शनि की साढ़साती कहते हैं। वर्तमान में शनि अपनी ही राशि मकर में हैं। इसलिए धनु, मकर और कुंभ राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। इन तीनों राशियों के जातकों के लिए ये उपाय शनि की साढ़ेसाती में राहत दिलवाने वाले हो सकते हैं।
घोड़े की नाल का टोटका
काले घोड़े की नाल के टोटके को बहुत ही खास माना जाता है। शनि के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए अपने घर के मुख्‍य द्वार पर काले घोड़े की नाल लटका दें। यह शनि की साढ़ेसाती के अशुभ प्रभाव से आपको बचाता है और आपके घर को भी बुरी नजर से दूर रखता है। इसके अलावा काले घोड़े की नाल का छल्‍ला भी अपनी मध्‍यमा उंगली में पहन सकते हैं।
हनुमान चालीसा का पाठ
ज्‍योतिष में ऐसा माना जाता है जिन राशियों पर शनि की दशा होती है, उस राशि के जातक यदि रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ करें तो शनि के अशुभ प्रभाव से दूर रहते हैं। हर शनिवार और मंगलवार को आप समय निकालकर सुंदरकांड का पाठ कर सकें तो यह आपके लिए बहुत ही अच्‍छा रहेगा। सुंदरकांड का पाठ पूरा होने के बाद हनुमानजी
की भोग लगाना न भूलें।
शनिवार को दान करें ये वस्‍तुएं
शनि को कर्मों का फल प्रदान करने वाले न्‍यायाधीश के रूप में ज्‍योतिष में जाना जाता है इसलिए शनिवार को दान पुण्‍य करना आपके लिए परमफलदायी हो सकता है। अगर आप भी शनि की साढ़ेसाती झेल रहे हैं तो शनिवार को काले वस्त्रों के साथ काले तिल, सरसों का तेल जरूरतमंदों को दें। हर शनिवार को ऐसा करना आपको सभी अशुभ प्रभावों से बचाए रखेगा। ऐसा करने से शनि की साढ़ेसाती में भी आपका अधिक नुकसान नहीं होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब कोलकाता पुलिस के कर्मी कर सकेंगे स्वेच्छा से अंगदान

ऑर्गन डोनेशन के लिए भी भर सकते हैं फॉर्म सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर कोई अंगदान करना चाहता है और उसे नियम नहीं पता तो उसकी मुश्क‌िल आगे पढ़ें »

ऊपर