वजन घटाना चाहते हैं तो शाम 5 बजे के बाद भूलकर भी न करें ये 5 गलतियां

कोलकाताः हम जानते हैं कि जैसे ही वजन घटाने में समय की बात आई होगी, तो आपको लगा होगा कि शाम 5 बजे के बाद कुछ ना खाने की सलाह होगी। लेकिन घबराइए मत हम आपको ऐसा कुछ भी नहीं कहने वाले। वजन घटाने में कैलोरीज का हिसाब रखना बेहद जरूरी माना जाता है। कुछ अधिक कैलोरीज आपके वजन घटाने के लक्ष्य को बुरी तरह प्रभावित कर सकती है। इसके अलावा वजन घटाने में भोजन का समय भी मायने तो रखता है। लेकिन उतना नहीं जितना आपके खाने का चुनाव। यानी आप किस समय खा रहे हैं इससे कहीं ज्यादा जरूरी है कि आप क्या खा रहे हैं। इसमें भले ही आप इंटरमिटेंट फास्टिंग क्यों न कर रहे हों। लेकिन अगर आपके खाने का चुनाव सही नहीं है तो यह आपके वेट लॉस गोल्स के बीच में बाधा उत्पन्न कर सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं ऐसी कौन सी 5 चीजें है जो आपको शाम 5 बजे के बाद नहीं खानी चाहिए।

  • ​पैकेट से सीधा निकाल कर खाना

अपने बैग या बॉक्स से सीधा निकालकर कुछ भी ना खाने लगें। आप अपने ट्रैक पर हैं या नहीं यह चीज आपके खाने की मात्रा पर निर्भर करेगी। ऐसे में जब भी कुछ खाएं उसकी मात्रा को दो बार चेक करें।

साथ ही डाइटिशियन माइंडलेस इटिंग पर भी लोगों को राय देते  हैं। आपने भी शायद गौर किया होगा कि अक्सर कुछ भी खाते समय में फोन या टीवी में व्यस्त हो जाते हैं और इस स्थिति में कुछ भी अधिक मात्रा में खा लेते हैं, ज्यादातर समय में हम चिप्स और अन्य प्रोसेस्ड फूड का सेवन करने लगते हैं। इससे हमारा दिन का कैलोरी इनटेक अधिक हो जाता है, जो वजन घटाने में बाधा उत्पन्न कर सकता है। ऐसे में डाइटिशियन का कहना है कि कि कुछ भी ना खाएं। बल्कि आपको क्या खाना है और कितना खाना है इसे पहले से ही तय कर लें। साथ ही खाते समय टीवी और फोन पर ध्यान ना दें।

  • रात को कार्ब्स का सेवन न करना

आमतौर पर वजन घटाने के दौरान लोग रात के समय कार्ब्स का सेवन बंद कर देते हैं। जिसकी वजह से पेट पूरी तरह नहीं भरता। ऐसे में थोड़ी देर बाद ही कुछ खाने की इच्छा होने लगती है। ऐसे में डाइटिशियन एक बैलेंस डाइट लेने की सलाह देती है। उनका कहना है कि जब आप ऐसा नहीं करते तो आप आवश्यकता से अधिक कैलोरीज का सेवन करने लगते हैं। कार्ब्स के जरिए हमारे ब्रेन और सेंटर नर्वस सिस्टम को तृप्ति का आभास होता है। इसके अलावा कार्ब्स के जरिए ग्लाइसेमिक इंडेक्स का स्तर भी गिरता है और पेट भरा हुआ ही महसूस होता है। वहीं प्रोटीन हमारे मसल्स को ग्रो करने में अहम भूमिका निभाता है और मेटाबॉलिज्म को भी बेहतर करता है। ऐसे में भोजन से पदार्थों को बाहर रखने से भूख लगने लगती है और आप रात को ओवर इटिंग करने लगते हैं।

इसके अलावा यह ध्यान रखें कि रात का भोजन आपको पूर्ण रूप से संतुष्ट कर दे। उनका कहना है कि एक हेल्दी और कम स्वादिष्ट भोजन अच्छा तो है, लेकिन अगर यह आपको संतुष्टि नहीं देगा तो आपको रात में स्नैक्स खाने की क्रेविंग होने लगेगी।

  • ​रात को देर तक जागना

साल 2021 में ही अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में बताया गया है कि देर रात खाने से वजन घटाने की प्रक्रिया पर असर पड़ता है। इससे शरीर में ट्राइग्लिसराइड बढ़ने लगता है। विशेषज्ञों का कहना है कि जितना ज्यादा देर तक आप जागते हैं, उतना ही आप अधिक खाने लगते हैं। वहीं रात के समय में ज्यादातर लोग अन्हेल्दी स्नैक्स ही खाते हैं। ऐसे में रात में अतिरिक्त कुछ भी खाने से बचने के लिए खुद पर नजर बनाकर रखें और खाने से बचें।

  • आधी रात को टूटकर खाना

वजन घटाने के दौरान हम अक्सर भोजन की मात्रा को इतना ज्यादा कम कर देते हैं कि रात के भोजन तक हमारी भूख बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में जब भूख बढ़ जाती है तो हम रात के समय कुछ भी अधिक मात्रा में खा लेते हैं। ऐसे में अगर आपको शाम 5 बजे के बाद अधिक भोजन करने से बचना है तो ध्यान रहे कि पूरे दिन में सही मात्रा में भोजन करें। इससे आप दिन के अंत में अधिक भोजन करने से खुद को रोक पाएंगे। इसके अलावा न्यूयॉर्क की नामी न्यूट्रिशनिस्ट निकोले स्टीफानो की माने तो जब हम दिन में कम भोजन करते हैं तो रात तक भूख बहुत अधिक बढ़ जाती है। जिसकी वजह से जब हम खाना शुरू करते हैं, तो शरीर को पेट भरने का अंदाजा देर से लगता है और हम अधिक खा चुके होते हैं।

वहीं अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो ना केवल दिनभर में उचित मात्रा में भोजन करें। बल्कि अपनी डाइट में उन खाद्य सामग्रियों को शामिल करें जिनमें प्रोटीन, फाइबर और फैट मौजूद है। साथ ही हर तीन से चार घंटे में पोषक तत्वों से भरपूर पदार्थों का सेवन करें। आप शाम के समय पीनट बटर और सेब का सेवन कर सकते हैं। इनमें प्रोटीन और फाइबर मौजूद है। इससे आपका पेट लंबे समय तक भरा रहेगा और आप ज्यादा भोजन करने से बचे रहेंगे।

  • ​किसी भी समय खाना

आमतौर पर जब हमें भूख लगती है हम केवल तभी ही नहीं खाते, बल्कि हम तभी खाते हैं जब हम बोर हो रहे हों या फिर तनाव में हो। इनमें से किसी भी टाइम खाना गलत नहीं है। लेकिन अगर आप ऐसे में अपने लक्ष्य को ध्यान में रखेंगे और प्लान करके खाएंगे तो इसके फायदे होंगे।

ऐसे में सबसे जरूरी है कि आप अपने किचन, फ्रिज, और अलमारियों से प्रोसेस्ड फूड को बाहर करें और उनकी जगह फल, योगर्ट, ड्राई फ्रूट्स, ओट्स , मूसली और बैरीज को रखें। साथ ही आप इस दौरान मीठे में क्या खाएंगे यह भी तय रखें। ताकि आप नुकसानदायक मीठे पदार्थों से दूर रह सके। इसके अलावा वह कहते हैं कि आप मीठे में आइसक्रीम की जगह ग्रीक योगर्ट, फल, ग्रैनोला आदि को शामिल कर सकते हैं। इनमें प्रोटीन पाया जाता है और यह आपके मीठे की क्रेविंग को भी शांत कर सकते हैं।

अगर आपके प्लान के मुताबिक चीजें नहीं हो पा रही तो ऐसे में आपको जरा भी गिल्टी फील करने की जरूरत नहीं है। ज्यादा फर्क इस बात से नहीं पड़ता कि आप कभी – कभी क्या करते हैं। बल्कि इससे पड़ता है कि आप रोज क्या कर रहे हैं। ऐसे में एक फ्लैक्सीबल प्लान बनाकर चले।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

इंदौर में बम फटने से दो की मौत, 15 से अधिक घायल

इंदौर : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है की इंदौर में बम फटने के बाद दो की मौत के बाद भारी संख्या में आगे पढ़ें »

ऊपर