भगवान शिव की चाहते हैं कृपा तो 14 जुलाई से न करें भूलकर भी ये काम

कोलकाताः हिंदू धर्म में सावन माह का विशेष महत्व है। सावन का महीना भगवान शिव को अति प्रिय है। हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल सावन 14 जुलाई से शुरू हो रहा है, जो 12 अगस्त तक रहेगा। सावन का महीना भगवान शिव के भक्तों के लिए भी काफी महत्वपूर्ण होता है। भगवान शिव के भक्त सावन के महीने में पूरी श्रद्धा भक्ति से भगवान भोलेनाथ की आराधना करते हैं और भगवान भोलेनाथ अपने भक्तों की सारी मनोकामना पूरी करते हैं। इस बार सावन में कुल चार सोमवार पड़ रहे हैं। पहला सोमवार 18 जुलाई को है। सावन का महीना कुंवारी लड़कियों के लिए भी काफी खास होता है। माना जाता है कि कुंवारी लड़की सावन सोमवार का व्रत रखकर मनचाहा वर की प्राप्ति कर सकती है। सावन का महीना सबसे खास महीना होता है। इसलिए सावन के महीने में कुछ चीजों को भूलकर भी नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं उन चीजों के बारे में…

  • न लगाएं तेल

सावन के महीने में गलती से भी शरीर पर तेल न लगाएं। सावन माह में तेल का दान किया जाता है। इसे शरीर में लगाना अशुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि तेल को शरीर में लगाने से भगवान शिव नाराज हो जाते हैं।

  • नहीं खानी चाहिए ये चीजें

सावन एक महीने का होता है और इस एक महीने भूल कर भी मांस, मछली व शराब का सेवन नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा करने से भगवान शिव क्रोधित हो जाते हैं और उनका क्रोध व्यक्ति पर बुरा असर डालता है। इसके अलावा सब्जियों में बैंगन भी नहीं खाना चाहिए। माना जाता है कि सावन के महीने में बैंगन खाना अशुभ होता है। बैगन को अशुद्ध माना जाता है।

  • न सोएं दिन में

सावन के महीने में दिन के समय सोना नहीं चाहिए। अगर आप सोमवार का व्रत रख रहे हैं तो भूलकर भी दिन में न सोएं। केवल एक ही टाइम सोएं और पूरा दिन भगवान शिव की भक्ति में लीन हो जाएं।

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज से कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल में भारी बारिश, अलर्ट जारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता समेत द​क्षिण बंगाल के ​जिलों में आज यानी सोमवार से भारी बारिश हो सकती है। अलीपुर मौसम विभाग के सूत्रों के आगे पढ़ें »

ऊपर