सपने में इस तरह दिखे पानी, तो समझिए बड़ी मुसीबत आने वाली है…

कोलकाताः स्वप्न शास्त्र ज्योतिष की एक शाखा है, जिसमें तमाम सपनों का विश्लेषण किया गया है। स्वप्न शास्त्र के मुताबिक सपने भी शुभ और अशुभ परिणाम देते हैं। हर सपने के अलग मायने होते हैं। सपने में यदि आपको पानी दिखे तो ये सपना शुभ भी हो सकता है और अशुभ भी, क्योंकि पानी की अलग अलग स्थितियां जीवन की अलग-अलग परिस्थितियों की ओर इशारा करती हैं। समुद्र का पानी, नदी का पानी, बारिश का पानी और साफ पानी, सबके अलग अलग मायने हैं। अगर आपको भी पानी से जुड़ा कोई सपना आया है, तो यहां आप इसका मतलब जान सकते हैं।

समुद्र का पानी दिखना

स्वप्न शास्त्र के अनुसार अगर आप सपने में समुद्र को देखते हैं, तो इसे शुभ नहीं माना जाता है। समुद्र काफी गहरा होता है और अपने भीतर काफी कुछ समेटे होता है। साथ ही इसका पानी भी नमकीन होता है। ऐसे में माना जाता है कि भविष्य में कुछ ऐसी परेशानियां सामने आ सकती हैं, जिनके बारे में आपने कल्पना भी न की हो। समुद्र का पानी धनहानि और किसी दुर्घटना का भी संकेत हो सकता है। ऐसी स्थिति में आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है।

नदी का पानी दिखना

स्वप्न शास्त्र के अनुसार नदी का पानी दिखना शुभ माना गया है। नदी को शास्त्रों में पवित्र माना गया है। नदी में स्नान करने से पाप कट जाते हैं। नदियों का पानी व्यक्ति के जीवन के लिए भी काफी उपयोगी है। ऐसे में अगर आपको नदी दिखाई देती है तो समझिए कि आपके जीवन की तमाम परेशानियों का अब अंत हो सकता है। आपकी तमाम इच्छाएं पूरी हो सकती है।

बारिश के पानी दिखना

बारिश का पानी व्यक्ति को सफलता दिलाने की ओर इशारा करता है। कहते हैं कि अगर आपको बारिश का पानी दिखाई दे, तो समझिए कि आपको धन का बड़ा फायदा मिलेगा क्योंकि बारिश का पानी फसल को पोषित करता है और फसल समृद्धि का प्र​तीक है। बारिश का पानी देखने से आपकी तमाम ख्वाहिशें पूरी हो सकती हैं। कुछ अटके हुए काम बन सकते हैं। ये नए वाहन के आगमन का भी संकेत है।

साफ पानी दिखना

स्वप्न शास्त्र के मुताबिक साफ पानी दिखना भी शुभ माना गया है। ये आपकी साफ सुथरी छवि की ओर इशारा करता है।अगर ऐसा कुछ दिखे तो समझिए वर्कप्लेस पर आपका कद बढ़ सकता है, ऐसे में आपको धन लाभ हो सकता है। इसके अलावा समाज में भी मान सम्मान बढ़ने की ओर इशारा करता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

इस दिन हनुमान जी की आराधना करने से पाए सफलता, शांति, सुख, शक्ति और साहस

कोलकाता: केसरी और अंजना के पुत्र, हनुमान का जन्म मंगलवार को चैत्र के हिंदू महीने के दौरान पूर्णिमा के दिन हुआ था। भगवान हनुमान को आगे पढ़ें »

सर्दी के एहसास के लिए कुछ दिनों का और करना होगा इंतजार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नवम्बर महीना समाप्त होने वाला है, लेकिन कोलकाता में अब भी गर्मी परेशान कर रही है। अमूमन दिसम्बर महीने से ही कोलकाता आगे पढ़ें »

ऊपर