कुंडली में है पितृ दोष तो भुगतने पड़ सकते हैं गंभीर परिणाम, अमावस्या पर करें ये उपाय

कोलकाता : पितृ पक्ष शुरू हो चुके हैं। इस दौरान लोग पितरों की शांति के लिए श्राद्ध करते हैं। लोगों द्वारा श्राद्ध करने के पीछे की वजह यह है कि पितरों का आशीर्वाद हमेशा बना रहे, जिसे घर में सुख-शांति और समृद्धि आए, लेकिन कभी-कभी इंसान की कुंडली में पितृ दोष होता है, जिससे जिंदगी में हर समय कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। पितृ दोष योग राहु से बनता है। हालांकि, अगर कुंडली में पितृ दोष है तो भी घबराने की जरूरत नहीं है। पितृ पक्ष में कुछ उपाय करके इस दोष के प्रभाव से निजात मिल सकती है।
दिक्कतों का सामना
कुंडली में पितृदोष होने से इंसान को तरक्की नहीं मिलती है। उसको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, जिस वजह से मानसिक परेशानी रहती है। घर में बरकत नहीं रहती है। मेहनत करने के बावजूद पैसा नहीं बचता। पारिवारिक जीवन पर भी प्रभाव पड़ता है। नौकरी मिलने में दिक्कत आती है।
पूर्व जन्म के कर्म
कुंडली में पितृ दोष होने की वजह पूर्व जन्म में किए गए कर्म हो सकते हैं। माता-पिता की सेवा न करना या उनकी अवहेलना करने से पितृ दोष की समस्या हो सकती है। इसके साथ ही आपने अपनी क्षमता, शक्तियों का दुरुपयोग किया है तो भी कुंडली में पितृ दोष की आशंका बढ़ जाती है।
राहु के कारण भी पितृ दोष
कुंडली में अगर राहु दूषित हो या राहु का संबंध धर्म भाव से हो तो पितृदोष होता है। राहु का संयोग सूर्य अथवा चन्द्रमा के साथ हो या गुरु चांडाल योग हो या फिर कुंडली में केंद्र स्थान रिक्त हो तो भी कुंडली में पितृ दोष होता है।
ये हैं उपाय
जहां कुंडली में पितृ दोष होने से लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वहीं, इससे मुक्ति पाने के भी कई उपाय बताए गए हैं। कुंडली में पितृदोष के प्रभाव से बचने के लिए अमावस्या के दिन किसी गरीब को खीर के साथ भोजन कराएं। वहीं, पीपल का पेड़ लगाने और उसके देखभाल करने से भी पितृ दोष का प्रभाव कम होता है। रोजाना सुबह के समय श्रीमद् भागवत गीता का पाठ करें। घर के पूजा स्थान पर रोज शाम को दीपक जलाएं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

11 दिसंबर को टेट की परीक्षा, 11000 से अधिक है वैकेंसी

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि  दुर्गा पूजा के बाद दिसंबर के दूसरे सप्ताह में प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के आगे पढ़ें »

पौधे लगा रहे किसान के खेत से निकला ‘बेशकीमती खजाना’!

नई दिल्ली : एक किसान पौधा लगाने के लिए जमीन खोद रहा था तभी उसका कुदाल किसी शख्त चीज से टकराने लगी। उसने अपने बेटे आगे पढ़ें »

ऊपर