‘पति के सिर पर बाल नहीं, नहीं लेते सेल्फी….चाहिए तलाक’

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश के मेरठ स्थित पुलिस परिवार परामर्श केंद्र में तलाक की मांग वाले एक से बढ़कर एक दिलचस्प मामले सामने आते हैं। छोटी-छोटी बातों को लेकर तलाक मांगने और अन्य समस्याएं लेकर आने वाले जोड़ों की परिवार परामर्श केंद्र की तरफ से काउंसलिंग की जाती है। इस केंद्र के मुताबिक अब तक 2500 से 3000 पारिवारिक झगड़ों को सुलझाया जा चुका है। दरअसल, इस केंद्र की प्रभारी और एसआई मोनिका जिंदल के मुताबिक सबसे पहली जरूरत पति और पत्नी की बातें धैर्य से सुनने की होती है फिर उन्हें सारे पहलुओं और ऊंच-नीच के बारे में समझाया जाता है। ये सब उन्हें विश्वास में लेकर बहुत समझदारी से किया जाता है। हालांकि किसी भी पति-पत्नी की पहचान नहीं खोली जाती। लेकिन कुछ केस ऐसे होते हैं उसका कारण सार्वजनिक किया जा सकता है, लेकिन कुछ ऐसे भी संवेदनशील केस होते हैं, जिनका कारण भी किसी दूसरे के सामने नहीं खोला जाता। मेरठ में परिवार परामर्श केंद्र की मोनिका जिंदल बीते ढाई साल से प्रभारी हैं। उनका कहना है कि पति पत्नी को अपनी बात कहने के लिए वक्त चाहिए होता है, जो हम उन्हें उपलब्ध कराते हैं। आइए जानते हैं ऐसे तीन मामलों के बारे में जहां तलाक की मांग के लिए अजब वजहें बताई गईं।
1. पति के पहले घुंघराले बाल थे, जो अब नहीं रहे, तलाक चाहिए : यह केस मेरठ के परिवार परामर्श केंद्र में पहुंचा। यहां शादी के एक साल बाद पत्नी को पता चलता है कि पति के जिन घुंघराले बालों से इंप्रेस होकर उसने शादी रचाई थी, वो बाल अब नहीं बचे। पत्नी ने यही वजह बताते हुए परिवार परामर्श केंद्र में अर्जी लगा दी। उसके मुताबिक जब रिश्ता तय किया गया उस समय पति के सिर पर काले घने घुंघराले बाल थे, उसकी पर्सनेल्टी को ही देखकर उसने शादी के लिए हां की थी। पत्नी के मुताबिक शादी के कुछ समय बाद तक सब कुछ ठीक-ठाक चलता रहा। लेकिन फिर पति के सिर के बाल झड़ने शुरू हो गए और वो गंजा हो गया, इसलिए वो उसके साथ नहीं रह सकती इसलिए उसे तलाक दिलाया जाए। मामला परिवार परामर्श केंद्र पहुंचने के बाद दोनों की अच्छी तरह से काउंसलिंग की गई। नतीजा ये रहा कि दूसरी तारीख में ही दोनों में समझौता हो गया। समझौता होने के बाद पति पत्नी का कहना था कि उनका मुद्दा सुलझ गया है और अब इस बारे में वो और बात नहीं करना चाहते हैं।
2. पति साथ सेल्फी नहीं लेना चाहता, तलाक दिलवाओ : परिवार परामर्श केंद्र के पास एक और दिलचस्प मामला सामने आया। यहां पत्नी की शिकायत थी कि उसका पति उसके साथ सेल्फी नहीं लेता, इस वजह से वो नाराज है और पति से तलाक लेना चाहती है। दूसरी तरफ पति ने पत्नी के आरोप को गलत बताते हुए पत्नी के साथ अपनी कुछ सेल्फी परामर्श केंद्र की प्रभारी मोनिका जिंदल को दिखाईं। यहां भी पति-पत्नी की बात धैर्य से सुनने के बाद उनकी काउंसलिंग की गई। दोनों पति-पत्नी जल्दी ही साथ रहने को मान गए।
3. पति पहले बात सुनता था, शादी के बाद नहीं, तलाक चाहिए: मेरठ में परिवार परामर्श केंद्र पर एक और केस आया जिसमें पत्नी का कहना था कि उसकी पति के साथ लव मैरिज हुई और दोनों की एक बेटी भी है। पत्नी की शिकायत थी कि शादी से पहले पति उसकी सारी बातें सुनता था, मानता था लेकिन शादी के बाद उसका रवैया बदल गया और दोनों में झगड़े होना शुरू हो गया। इस केस में पति पत्नी की काउंसलिंग करने की अधिक जरूरत पड़ी। आखिर पति पत्नी समझौता करने को राजी हो गए. इसके बाद अब दोनों के परिवार भी बहुत खुश हैं।
परामर्श केंद्र की प्रभारी मोनिका जिंदल का कहना है कि पति-पत्नी का रिश्ता बहुत नाजुक होता है। ये दो पहियों की तरह होता है जिससे गृहस्थी की गाड़ी आगे चलती है। कोशिश यही रहती है कि मनोवैज्ञानिक ढंग से पति-पत्नी को सारे पहलुओं के बारे में समझाने की कोशिश की जाए। साथ ही ये भी समझाया जाता है कि दोनों एक दूसरे की बात को समझने की कोशिश करें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विश्व की महान संस्कृति का ध्वजवाहक है हिन्‍दू नववर्ष

मंगलवार से शुरू हो जायेगा नववर्ष कोलकाताः हिन्‍दू नववर्ष जो कि विश्व की महान संस्कृति का ध्वजवाहक है। इस बार नववर्ष आगामी 13 अप्रैल यानी कि आगे पढ़ें »

आइकोर की डायरेक्टर को ईडी ने मंगलवार को बुलाया

कोलकाता : आइकोर की डायरेक्टर कणिका माइती को ईडी की टीम ने मंगलवार को तलब किया है। आईकोर की छानबीन हाल ही में सीबीआई ने आगे पढ़ें »

ऊपर