कोरोना महामारी के दौरान वर्कप्लेस पर इन पांच सेफ्टी टिप्स की जानकारी सभी को होनी चाहिए

कोलकाताः कोविड-19 महामारी दुनियाभर में तेजी से फैल रही है। इससे संबंधित सूचना, आंकड़े, दिशा-निर्देश आदि तेजी से बदल रहे हैं जिससे इस संक्रमण को लेकर कई तरह की चिंताओं और गलतफहमियों को बढ़ावा मिल रहा है। खतरनाक कोरोना वायरस के प्रसार को कंट्रोल करने और साथ ही इससे जुड़ी नकारात्मक बातों को रोकने के लिए हमको सक्रियता दिखानी चाहिए और इस वायरस, कार्य पर इसके संभावित प्रभाव और कर्मचारियों की सुरक्षा के बारे में भी बात करनी चाहिए। क्योंकि कई ऐसे वर्क प्लेस हैं जिनका वर्कफ्रॉम होम संभव नहीं है, ऐसे में उन्हें इस महामारी के दौरान भी रोजाना ऑफिस जाना पड़ रहा है। यहां हम आपको कुछ ऐसे कॉमन टिप्स दे रहे हैं जो इस समय वर्कप्लेस को सुरक्षित बनाने और कर्मचारियों को इस वायरस के प्रसार से बचाने में मददगार साबित होंगे। तो आइए जानते हैं इनके बारे में –

नियमित तौर पर साफ-सफाई रखें
टॉयलेट सीट आदि जैसे  स्थान मुख्य रूप से शामिल हैं। इसके लिए आप कर्मचारियों को डिस्पोजेबल डिसिनफेक्टेंट वाइप्स मुहैया करा सकते हैं जिससे कि ज्यादा छुए/इस्तेमाल किए जाने वाले स्थानों को इस्तेमाल के बाद साफ रखा जा सके।
नियमित तौर पर हाथ धोने की आदत डालें
अपने वर्कप्लेस में सभी कर्मचारियों को समय-समय पर यह याद दिलाते रहें कि इस वायरस के प्रसार से मुकाबले का अच्छा तरीका नियमित रूप से हाथ धोना और अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूने से परहेज करना है। साबुन और पानी से करीब 20 सेकंड तक हाथ धोने, रगड़ने और हाथों के पीछे, उंगलियों और नाखूनों के बीच की सफाई रखने से कीटाणुओं को पूरी तरह मारने में मदद मिलेगी। अपने कर्मचारियों को समय-समय पर यह याद दिलाएं कि उन्हें नियमित तौर पर अपने हाथ धोने चाहिए, इस बारे में पोस्टर लगाएं और कार्यालय के आसपास, खासकर बाथरूम और कैंटीन जैसे एरिया में इससे संबंधित सूचना लिखें।
बीमार कर्मचारियों को घर पर रहने की सलाह दें
कई स्वास्थ्य संगठनों द्वारा हर कार्यलय को यह सलाह दी गई है कि जिन कर्मचारियों में खांसी, जुकाम, बुखार, सांस लेने में दिक्कत जैसे कोविड-19 संबंधित लक्षण दिखते हैं उन्हें घर पर रहना चाहिए और तब तक कार्यालय नहीं आना चाहिए जब त कवे कोविड-19 के लक्षणों से मुक्त न हो जाएं। नियोक्ताओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे बीमार कर्मचारियों को पूरी सहायता मुहैया कराएं और सिक लीव संबंधित नीतियां सार्वजनिक स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों के अनुरूप हों।
यात्रा की योजना टालें
अपने कर्मचारियों को अपने वर्क ट्रेवल प्लांस के संबंधित में यात्रा के लिए स्वास्थ्य सूचनाओं पर अमल करने की सलाह दें। यदि कोई एरिया कोविड-19 से ज्यादा प्रभावित है तो उन्हें वहां की यात्रा टालने या रद्द करने की सलाह दें। यदि बहुत ज्यादा जरूरत हो, तो कर्मचारियों के लिए यात्रा के वक्त लक्षणों की समय समय पर जांच सुनिश्चित करें, जिससे कि उनके साथ यात्रा कर रहा अन्य व्यक्ति उनसे संक्रमित न हो।
महामारी से मुकाबले के तरीकों की चर्चा करें
नियोक्ताओं को इस बारे में कर्मचारियों के साथ चर्चा करनी चाहिए कि अपने कार्य स्थल पर किस तरह से कोविड-19 के प्रसार और इसके प्रभाव को कम किया जा सकता है और साथ ही इस संबंध में कंपनियों को कर्मचारियों के साथ अपनी योजनाएं भी साझा करनी चाहिए। ऐसी योजनाएं अपने उद्देश्यों की पहचान और जागरूकता से जुड़ी होनी चाहिए।
शेयर करें

मुख्य समाचार

23 मई तक खड़गपुर आईआईटी में लॉकडाउन

खड़गपुर : आईआईटी-खड़गपुर ने बृहस्पतिवार कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से 23 मई तक कार्यालय बंद करने की घोषणा की। इसके सचिव तमाल नाथ आगे पढ़ें »

केंद्र की भूमिका पर झुंझलाये अर्जुन सिंह

बुधवार की देर रात कड़ी सुरक्षा के बीच सांसद के घर पर हुई बमबारी बैरकपुर : भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर को लक्ष्य कर बुधवार आगे पढ़ें »

ऊपर