इन चीजों को पानी में डालकर लें भाप, तब मिलेगा फायदा, जानिए स्टीम इन्हेलेशन से जुड़ी जरूरी जानकारी

कोलकाताः कोराना इन दिनों देश के तमाम हिस्सों में तेजी से पैर पसार रहा है। कोविड पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। चिंताजनक बात ये है कि कोरोना की दूसरी लहर पूरे परिवार को अपनी चपेट में ले रही है। इसकी वजह से लोग परेशान हैं और बचाव के हर संभव उपाय कर रहे हैं। इन्हीं उपायों में से एक है भाप लेना। आजकल अस्पतालों में भी कोविड मरीजों को स्टीम दिलवाई जा रही है। कोरोना से लड़ाई में डॉक्टर स्टीम इन्हेलेशन को काफी प्रभावी मान रहे हैं और कोरोना के मरीजों के अलावा इस महामारी से बचाव के लिए भी लोगों को नियमित रूप से कम से कम दो बार स्टीम लेने की सलाह दे रहे हैं। आइए जानें किन-किन चीजों से स्टीम लेना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है और इसका सही तरीका क्या है।

इन चीजों का करें इस्तेमाल

भाप लेने के लिए सबसे बेहतर है कि आप नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल करें। इसे सर्दी, जुकाम, साइनस और फेफड़े की समस्या के लिए काफी प्रभावी माना जाता है। इसके लिए पानी में इसकी कुछ बूंदों को डालकर आप भाप ले सकते हैं। यदि नीलगिरी का तेल नहीं है तो आप नींबू या संतरे के छिलके, अदरक, अजवाइन, दालचीनी, टी-ट्री ऑयल या नीम की पत्तियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा कार्वोल प्लस कैप्सूल को पानी में डालकर भी भाप ली जा सकती है।

ऐसे मिलता है फायदा

दरअसल स्टीम नाक और गले में जाकर म्यूकस को पतला करके बाहर निकालने में मददगार होता है। इसके अलावा स्टीम लेते समय पानी में डाले जाने वाले तेल और हर्ब्स में एंटीमाइक्रोबियल होते हैं, जो शरीर में जाकर बैक्टीरिया और वायरस को मारने में असरकारी माने जाते हैं। हालांकि अब तक डब्ल्यूएचओ या डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की ओर से इस धारणा की पुष्टि नहीं की गई है लेकिन डॉक्टर कोरोना की जंग में स्टीम को काफी असरकारी मान रहे हैं।

कितनी बार लें भाप

विशेषज्ञों का मानना है कि रात को सोते समय और सुबह उठकर भाप जरूर लेनी चाहिए। उस समय शरीर में कफ का प्रकोप ज्यादा होता है। ऐसे में स्टीम लेने से गले और फेफड़ों में जमा कफ आसानी से बाहर निकल आता है। इसके अलावा दिन में भी एक बार भाप ले ली जाए तो अच्छा है। एक बार में कम से कम 10 से 15 मिनट भाप लेना ज्यादा फायदेमंद है।

क्या है सही तरीका

स्टीम लेने के लिए आप एक बर्तन में पानी उबालें और उसमें उपर बताई गई कोई हर्ब या नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदें डाल दें। उसके बाद पानी को अच्छी तरह उबाल लें। फिर सिर पर तौलिया रखकर भाप लें. वैसे आजकल भाप लेने के लिए बाजार में स्टीमर मौजूद हैं। उनसे भाप लेने के लिए आपको इतनी मशक्कत भी नहीं करनी पड़ेगी और भाप भी अच्छी तरह मिल जाएगी। इसलिए बेहतर है कि आप स्टीमर का प्रयोग करें। इसके अलावा भाप लेने के बाद 15 से 20 मिनट तक किसी से बातचीत न करें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

शादी के महज 5 घंटे बाद ही दुल्हन की हुई मौत, डोली के बदले उठी अर्थी

मुंगेर : बिहार के मुंगेर में ऐसी घटना सामने आई, जिसे सुनकर लोगों को जैसे विश्वास ही नहीं हो रहा। यहां एक शादी समारोह में आगे पढ़ें »

दक्षिण बंगाल में आंधी-बारिश से जुड़ी घटनाओं में तीन की मौत

कोलकाता : दक्षिण बंगाल में कोलकाता और उसके आसपास के जिलों में मंगलवार दोपहर बाद आंधी के साथ बारिश हुई और संबंधित हादसों में तीन आगे पढ़ें »

ऊपर