जुड़वा बच्‍चे पैदा करने के लिए इन तरीकों से बढ़ाएं अपनी फर्टिलिटी

बच्‍चे का आना, खुशियों को दस्‍तक देता है और जब जुड़वा बच्‍चे पैदा हों, खुशियां भी दोगुनी हो जाती हैं। अगर आप भी अपने लिए जुड़वा बच्‍चे चाहते हैं, तो इस काम में कुछ चीजें आपकी मदद कर सकती हैं। जुड़वा बच्‍चे होने की संभावना फैमिली हिस्‍ट्री, फर्टिलिटी ट्रीटमेंट और महिला के शरीर पर निर्भर करती है। जुड़वा बच्‍चे दो तरह से कंसीव होते हैं – एक आइडेंटिकल और दूसरा फ्रेटरनल।
जब एक फर्टिलाइज एग टूटकर दो भ्रूण बनाता है, तो इसे आइडेंटिकल ट्विन कहते हैं। दो स्‍पर्म से दो एग के फर्टिलाइज होने को फ्रेटरनल एग कहते हैं। आइडेंटिकल ट्विंस कंसीव करना एक नैचुरल प्रक्रिया है लेकिन आप कुछ चीजों की मदद से फ्रेटरनल रूप से जुड़वा बच्‍चे पैदा कर सकते हैं, आइए जानते हैं कैसे।

​सेक्‍स पोजीशन

सेक्‍स पोजीशन से भी कंसीव करने में मदद मिलती है। जुड़वा बच्‍चों के लिए आप मिशनरी पोजीशन, रियर एंट्री सेक्‍स पोजीशन, सिजरिंग पोजशीशन में सेक्‍स कर सकते हैं। इन पोजीशन में डीप पेनिट्रेशन होता है और ओवुलेशन के समय आप आसानी से कंसीव कर लेती हैं।
सप्‍लीमेंट्स

गर्भावस्‍था में शिशु के सही विकास और मां के स्‍वस्‍थ रहने के लिए फोलिक एसिड और कई तरह के विटामिन जरूरी होते हैं। उच्‍च मात्रा में फोलिक एसिड युक्‍त सप्‍लीमेंट और मल्‍टीविटामिन लेने से ट्विन प्रेग्‍नेंसी की संभावना को बढ़ाया जा सकता है। इसकी संभावना सप्‍लीमेंट ना लेने वाली महिलाओं में कम होती है।

​डायट भी है जरूरी

जुड़वा बच्‍चों के लिए कंसीव करने में पोषण सबसे ज्‍यादा अहम होता है। अगर आपने जुड़वा बच्‍चे कंसीव भी कर लिए, तो भी प्रेग्‍नेंसी को बनाए रखने और बच्‍चों की स्‍वस्‍थ डिलीवरी के लिए आपको पर्याप्‍त न्‍यूट्रिशियन की जरूरत होती है। कुछ खाद्य पदार्थ जैसे कि डेयरी प्रोडक्‍ट्स, सोया और मछली जुड़वा बच्‍चे कंसीव करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि इन चीजों को खाने से आपके जुड़वा बच्‍चे ही होंगे। इससे सिर्फ आपके जुड़वा बच्‍चे कंसीव करने की संभावना बढ़ती है। फैमिली हिस्‍ट्री, मां की लंबाई, वजन और उम्र पर भी ट्विन प्रेग्‍नेंसी निर्भर करती है।

​वजन और लंबाई

कुछ अध्‍ययनों के अनुसार मोटी और 30 से अधिक बीएमआई वाली महिलाओं में संतुलित वजन वाली महिलाओं की तुलना में ट्विन प्रेग्‍नेंसी की संभावना ज्‍यादा होती है। ऐसा एस्‍ट्रोजन के बढ़े हुए लेवल के कारण हो सकता है जिससे एक्‍स्‍ट्रा फैट से दो एग रिलीज हो सकते हैं। हालांकि, प्रेग्‍नेंसी से पहले महिला का मोटा होना गर्भावस्‍था में कई तरह की जटिलताएं पैदा कर सकता है। 5 फुट 4.8 इंच से लंबी महिलाओं में भी ट्विन प्रेग्‍नेंसी के चांसेस ज्‍यादा होते हैं। इसके अलावा लंबी महिलाओं और पेट में जुड़वा बच्‍चे होने पर प्रीटर्म डिलीवरी का खतरा कम होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चतुर्थी से महानगर की सड़कों पर सुरक्षा की कमान संभालेंगे पुलिस कर्मी

5 हजार पुलिस और 10 हजार अस्थायी होम गार्ड रहेंगे तैनात तीन शिफ्टों में काम करेंगे पुलिस कर्मी कोलकाता : कोविड काल के बाद इस साल आयोजित आगे पढ़ें »

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

ऊपर