कितने घंटे की नींद जरूरी? इस स्टडी में कही गई बिल्कुल अलग बात

कोलकाताः नींद को लेकर हर किसी का अपना अलग नजरिया होता है। किसी का मानना है कि व्यक्ति को 7 घंटे की नींद लेनी चाहिए, वहीं कुछ लोगों का मानना है कि 8 घंटे की नींद हेल्दी लाइफ के लिए जरूरी होती है। वहीं, बहुत सी जगहों पर हर उम्र के लोगों के लिए नींद के आइडियल समय के बारे में भी बताया गया है, लेकिन साइंस के मुताबिक, मिडिल एज के व्यक्तियों के लिए 8 घंटे की नींद लेना सही नहीं माना जाता है। कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स का सुझाव है कि मिडिल एज के लोगों को 7 घंटे की ही नींद लेनी चाहिए। इससे हेल्थ सही रहती है और बुढ़ापे में होने वाली समस्याएं जैसे डिमेंशिया का खतरा भी कम होता है।
इसके लिए रिसर्चर्स ने 38 से 73 उम्र तक के लोगों को स्टडी में शामिल किया। जो लोग 7 घंटे से ज्यादा या कम नींद लेते हैं, उन सभी के टेस्ट के रिजल्ट्स काफी खराब आए। ऐसे लोगों में सोचने की स्पीड, सतर्कता और याद्दाश्त में कमी पाई गई। साथ में इन लोगों में परेशानियों को हल करने की क्षमता में भी कमी पाई गई।
अभी तक 8 घंटे की बिना खलल वाली नींद को सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता रहा है। इसके अलावा जब आपकी नींद में किसी तरह का खलल पैदा होता है तो इसका दिमाग पर बुरा असर पड़ता है। यह डिमेंशिया का संकेत होता है।

  • बता दें कि ब्रेन की हेल्थ के लिए नींद बहुत जरूरी होती है। इससे दिमाग को चीजें याद रखने में मदद मिलती है, साथ ही दिमाग से वेस्ट प्रोडक्ट बाहर निकलते हैं।
  • इससे मेटाबॉलिज्म और इम्यून सिस्टम को सही से काम करने में मदद मिलती है।
  • वहीं एनएचएस का सुझाव है कि व्यस्कों के लिए हर रात 6 से 9 घंटे की नींद जरूरी होती है। वहीं, बच्चों के विकासशील दिमाग के लिए 12 घंटे की नींद जरूरी है।
  • लेकिन मिडिल एज और बूढ़े लोगों के लिए लगातार सोए रहना और देर तक सोना काफी मुश्किल होता है। एक्सपर्ट का मानना है कि इसके चलते बुढ़ापे में लोगों को दिमागी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
  • रिसर्चर्स का मानना है कि ज्यादा या कम नींद लेने वाले लोगों की तुलना में जो लोग रोजाना 7 घंटे की नींद लेते हैं, उनका दिमाग काफी स्वस्थ होता है। ऐसे लोगों की मेंटल हेल्थ काफी अच्छी होती है, साथ ही इन लोगों को एंग्जाइटी, डिप्रेशन की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता।
  • रिसर्चर्स ने कारण बताते हुए कहा कि जो लोग 7 घंटे से कम की नींद लेते हैं, उनकी नींद में खलल काफी ज्यादा पड़ता है और वह डीप-स्लीप नहीं ले पाते। इसके अलावा, जो लोग 7 घंटे से ज्यादा सोते हैं उन्हें भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

यहां महिला और पुरूष के प्राइवेट पार्ट पर लगाते हैं करंट, खुलेआम होता है रेप

नई दिल्लीः चीन में उइगर मुस्लिमों को किस हद तक प्रताड़ित किया जा रहा है, यह बात किसी से छिपी नहीं है। उन पर तमाम आगे पढ़ें »

ऊपर