गर्मी में खाने के साथ जरूर खाएं खीरे का रायता, बढ़ जाएगा दोगुना स्वाद

कोलकाताः गर्मियां आते ही लोग उन चीजों का ज्यादा सेवन करते हैं जो ठंडक का एहसास दें। ऐसे में दही से बेस्ट ऑप्शन और क्या हो सकता है। गर्मियों में दही ना केवल सेहत के लिए बेहतरीन होता है बल्कि इसे आप अलग डिश के तौर पर अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। दही के अलावा लोग खीरे का भी इस मौसम में बहुत ज्यादा सेवन करते हैं। ऐसे में आज हम आपको इन दोनों चीजों को मिलाकर बनने वाले खीरे के रायते की रेसिपी बताते हैं। वैसे तो ये बनाना बेहद आसान है लेकिन लोग अक्सर इसे बनाते वक्त छोटी सी गलती कर देते हैं कि खीरे के रायता का पूरा स्वाद ही बिगड़ जाता है। जानें वो गलती क्या है और साथ ही जाने खीरे का रायता बनाने की सबसे परफेक्ट और आसान रेसिपी…

खीरे का रायता बनाने के लिए जरूरी चीजें
  • खीरा
  • दही
  • सफेद नमक
  • काला नमक
  • भुना हुआ जीरा
  • लाल मिर्च पाउडर
  • पानी
बनाने की विधि
सबसे पहले आपको जितने लोगों के लिए रायता बनाना है उतना दही ले लें। दही को एक बर्तन में निकाल लें और उसे अच्छे से फेट लें। अब खीरे को कद्दूकस कर लें। इसके बाद खीरे को निचोड़ना जरूरी है। दरअसल, कई लोग खीरे को कद्दूकस करने के बाद उसे बिना निचोड़े यानी कि उसका पानी बिना निकाले उसे ऐसे ही दही में मिला देते हैं। ऐसा करने से रायता पानी पानी सा लगने लगता है। इसलिए इस गलती को बिल्कुल ना करें। खीरे को कद्दूकस करने के बाद उसे हाथ में लें और हथेली के द्वारा खीरे को दबाकर उसका सारा पानी निकाल दें।

अब इस खीरे को दही जो आपने फेटा है उसमें डाल दें। दही अगर आपको ज्यादा गाढ़ा लग रहा हो तो आप उसमें थोड़ा सा पानी मिला लें। इसके बाद इसमें सफेद और काला दोनों नमक स्वादानुसार डालें। इसके बाद चुटकी भर लाल मिर्च पाउडर और भुना हुआ जीरा दरबरा कूटकर डालें। इसे अच्छे से मिला लें। अब आपका स्वादिष्ट खीरे का रायता सर्व करने के लिए एकदम तैयार है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कमिंस-रसेल के अर्धशतक बेकार, केकेआर की लगातार तीसरी हार

कोलकाता को 18 रन से हरा चेन्नई ने लगाई जीत की हैट्रिक मुंबई : आईपीएल 2021 के 15वें मैच चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने कोलकाता नाइट आगे पढ़ें »

कोरोना से मरीज त्रस्त, नर्सिंग होम्स बिल बनाने में व्यस्त

दक्षिण कोलकाता के नर्सिंग होम पैकेज पर ले रहे हैं कोरोना मरीजों को कोलकाता : कोरोना के कारण राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था ​अब धीरे-धीरे चरमरा रही आगे पढ़ें »

ऊपर