नजर दोष से बचाएंगे होली के ये 6 टोटके, जमाने से आजमाते रहे हैं लोग

कोलकाताः होली का त्‍योहार आने वाला है और लोगों के मन में इस त्‍योहार को लेकर एक विशेष प्रकार का उत्‍साह रहता है। होली जलाने से लेकर गुजिया खाने तक और रंगों में सराबोर पूरा वातावरण आपके घर ही नहीं आस-पास के पूरे माहौल को ही रंगों से सराबोर कर देता है। होली को बुराई पर अच्‍छाई की जीत की खुशी के रूप में मनाया जाता है। हिरण्‍यकश्‍यप के कहने पर भक्‍त प्रहलाद की बुआ उसे जलाना चाहती थी, लेकिन प्रह्लाद की भक्ति के आगे उसको हार माननी पड़ी और होलिका जलकर राख हो गई और प्रह्लाद का बाल भी बांका नहीं हुआ। भक्ति की शक्ति के प्रतीक के रूप में हर साल होली जलाई जाती हैं और ऐसा माना जाता है कि होली की राख में वह शक्ति होती है जो आपकी कई समस्‍याओं को दूर कर सकती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं होली और होली की राख से जुड़े 7 टोटके जो काफी पुराने समय से लोग आजमाते चले आ रहे हैं।
काली सरसों का उपाय
होलिका दहन हो जाने के बाद जब अग्नि शांत हो जाए तो वहां से थोड़ी सी होली की राख घर ले आएं। उस राख में काली सरसों मिलाकर घर के चारों ओर छिड़कना चाहिए। इससे आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होता है और हर प्रकार की बुरी नजरों से दूर रहता है आपका घर।
होलिका की राख का तिलक
होलिका की राख को बहुत ही पवित्र माना जाता है और ऐसा कहा जाता है कि होलिका की अग्नि शांत हो जाने के बाद राख को भस्म के रूप में लेना चाहिए। इसका तिलक करने से नजर दोष से रक्षा होती है। ऐसी भी मान्यता है कि होलिका की राख शरीर पर लेपन करने से शरीर निरोग होता है और त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं दूर हो जाती हैं।
कौड़ियों का उपाय
कई बार हमें ऐसा लगता है कि खुशियां हमारे घर से कोसों दूर चली गई हैं और चारों तरफ निराशा का माहौल हो जाता है। इसके लिए आपको होली पर यह उपाय करना चाहिए। होली के दिन 7 कौड़ियों को सिर के ऊपर से 7 बार घुमाकर होलिका की अग्नि में डाल दें। फिर देखिए आपके घर की सभी समस्‍याएं एक के बाद एक खत्‍म होती चली जाएंगी।
महिलाएं ऐसे न रखें अपने बाल
ऐसा माना जाता है कि जिस रात होलिका दहन होता है उस वक्‍त कई प्रकार की नकारात्‍मक शक्तियां सक्रिय हो जाती हैं और कई लोग तंत्र-मंत्र का भी काम करते हैं। इसलिए होलिका दहन की रात सिर को ढककर रहना चाहिए। होलिका की रात महिलाओं को बाल खुले नहीं रखना चाहिए।
न खाएं ऐसी चीजें
होलिका दहन के दिन यानी फाल्गुन पूर्णिमा के दिन किसी के घर पर या किसी की दी हुई सफेद चीजों को खाने से बचना चाहिए। प्राचीन काल से ऐसी मान्यता चली आ रही है कि होलिका दहन के दिन नकारात्मक ऊर्जा अधिक सक्रिय रहती है और आपको इनसे बचना चाहिए।
नजर दोष से ऐसे बचें
होलिका की राख को नजर दोष से बचने के लिए भी प्रयोग में लाया जाता है। होलिका दहन के दूसरे दिन होलिका की राख को घर लाकर उसमें थोड़ी सी राई व नमक मिलाकर रख लें। जब आपको लगे कि नजर दोष है या नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव है तो इससे चुटकी में लेकर 7 या 2 बार घुमाकर जल में प्रवाहित कर दें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक परीक्षा को लेकर अनिश्चियता, मगर पर्षद ने शुरू की तैयारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना काल के बीच राज्य में सभी सरकारी स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां दे दी गयी हैं। इस बीच, राज्य में 1 आगे पढ़ें »

दिल्ली ने मुंबई को 6 विकेट से हराया, मिश्रा ने झटके 4 विकेट, अर्धशतक से चूके धवन

चेन्नई : आईपीएल 2021 के 13वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने मुंबई इंडियंस को 6 विकेट से शिकस्त दी। दिल्ली की यह लगातार दूसरी जीत आगे पढ़ें »

ऊपर