मंदिर बंद रखने पर भड़के ‘देवता’, बोले- पट नहीं खोले तो भुगतने पड़ेंगे परिणाम

नई दिल्ली : कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद सरकार ने मंदिरों को बंद रखने का आदेश भले ही सुनाया है। लेकिन यह देवी-देवताओं को कतई पंसद नहीं है। देवताओं के मंदिर बंद रखने से नाराज बेंची पंचायत के मालीपथर के देवता शेला ब्रह्मा सोमवार को उपायुक्त के द्वार पहुंचे। उपायुक्त के पास पहुंचकर उन्होंने सरकार व प्रशासन के प्रति खासी नाराजगी जाहिर की। प्रशासन के द्वार देवता पहुंचने के बाद यहां मौजूद अधिकारियों के होश उड़ गए। देवता ने गूर के माध्यम से सख्त लहजे में कहा कि कोरोना में देवी-देवताओं के मंदिर बंद नहीं होने चाहिए। अगर देवताओं के मंदिर बंद रहे तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने को तैयार रहना होगा। कोरोना महामारी को भी हम सभी देवी-देवता दूर करेंगे। इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही देवता शेला ब्रह्मा ने कहा कि वह दशहरा में आना चाहते हैं। जिसके लिए उन्हें जगह प्रदान की जाए। देवता के कारदार रण सिंह ने कहा कि मंदिरों के बंद होने से देवता नाराज हो गए हैं। जिसके बाद देवता अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए उपायुक्त के पास पहुंचे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप: पहली बार तटस्थ स्थल पर मैच खेलेगा भारत

नई दिल्ली : भारत और न्यूजीलैंड के बीच अगले महीने  विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल होगा। जब दोनों टीम रोज बाउल में उतरेगी तो आगे पढ़ें »

बांग्लादेश बनाम श्रीलंका : तेज गेंदगाज रुबेल और महमूद को नहीं मिली जगह

नई दिल्ली : बांग्लादेश और श्रीलंका के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज में तेज गेंदगाज रुबेल हुसैन और हसन महमूद को शामिल नहीं किया गया आगे पढ़ें »

ऊपर